S M L

कानपुर में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत, ठेके का मालिक फरार

कानपुर देहात के सचेंडी इलाके के ढूल गांव में यह हादसा हुआ. इसमें करीब एक दर्जन लोगों की मौत हो गई है, फिलहाल ठेके का मालिक फरार है

Updated On: May 20, 2018 07:06 PM IST

FP Staff

0
कानपुर में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत, ठेके का मालिक फरार

कानपुर देहात में जहरीली शराब पीने के कारण कई लोंगो की मौत हो गई है. कानपुर देहात के सचेंडी थाना इलाके के ढूल गांव में यह हादसा हुआ है. इसमें 10 लोगों की मौत हो गई है और करीब एक दर्जन लोंगो की तबीयत बिगड़ने की खबर है. कई लोंगो की जहरीली शराब पीने के कारण आंख की रोशनी चली गई है.

खबर के अनुसार मरने वालों में मड़ौली निवासी श्यामू (40), छुन्ना कुशवाह (28), हरी मिश्रा (50) और नारेबद्र (40) हैं. घटना की खबर मिलते ही जिला प्रशासन और जिला आबकारी विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए.

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने घटना पर दुःख जताते हुए मरने वालों के परिवार को दो-दो लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है.

घटना से गुस्साए लोंगो ने मौके पर हंगामा करना शुरू कर दिया. लोंगो ने आरोप लगाया कि इलाके में पुलिस और आबकारी विभाग की मिलीभगत से अवैध शराब का कारोबार हो रहा है. इसके बाद डीएम और एसएसपी ने मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों से पूछताछ की. ठेके को सील कर दिया गया है. इस मामले में पुलिस अभी तक 11 आरोपियों को हिरासत में ले चुकी है.

इससे पहले कानपुर देहात के संचेड़ी इलाके के सुरार, दूल, हेटपुट और आसपास के गांवो के लोंगो ने दूल गांव के सरकारी ठेके से शराब खरीद कर पी थी. रात को ही कई लोंगो की तबीयत बिगड़ गई. जिसके बाद परिवारजनों ने आसपास के अस्पतालों में भर्ती कराया. जहां इलाज के दौरान रिटायर दरोगा जगजीवन लाल, राजेंद्र तोमर, उमेश यादव, रचनेश शुक्ल और रामजीवन कोरी ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

इस घटना में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जिला मजिस्ट्रेट सुरेंद्र सिंह ने बताया कि हमने आरोपियों में से एक के घर पर छापा मारा.  जहां अवैध शराब के डिब्बे पाए गए हैं. घटना में पूर्व एसपी विधायक और मंत्री रामस्वरूप गौड़ के नाती नीरज सिंह और विनय सिंह का नाम इसमें आने पर पुलिस और भी सक्रिय हो गई है.

 

(तस्वीर प्रतीकात्मक है)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi