S M L

फिर लीलावती में भर्ती हुए पर्रिकर, इलाज के लिए जा सकते हैं यूएस

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को दोबारा लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है, इससे पहले उन्हें 22 फरवरी को ही अस्पताल से छुट्टी मिली थी

Updated On: Mar 06, 2018 09:32 AM IST

Bhasha

0
फिर लीलावती में भर्ती हुए पर्रिकर, इलाज के लिए जा सकते हैं यूएस

गोवा के मुख्यमंत्री और देश के पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को सोमवार को फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया. अग्नाश्य संबंधी बीमारी के इलाज के बाद 11 दिन पहले ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी गई थी.

महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता चन्द्रकांत पाटिल ने बताया कि पर्रिकर को उनके आगे के इलाज के लिए लीलावती अस्पताल में फिर से भर्ती कराया गया है.

इससे पहले दिन में पणजी से यहां के लिए रवाना हुए पर्रिकर (62) ने एक वीडियो संदेश में लोगों से उनके स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करने की अपील की थी.

पर्रिकर ने संदेश में कहा कि मैं आप सभी लोगों का धन्यवाद करता हूं. पिछले 15 दिन में आप लोगों ने मेरे लिए प्रार्थना की. आपने मुझे आशीर्वाद दिया , जिसके कारण मैं ठीक हुआ और पूरी तरह से ठीक होने के लिए मैं विदेश जा सकता हूं.

मुंबई रवाना होने से पहले की अधिकारियों और मंत्रियों के साथ बैठक

मुंबई रवाना होने से पहले पर्रिकर ने गोवा के डोना पावला स्थित अपने निजी आवास पर अपनी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की और एक कैबिनेट सलाहकार समिति का गठन किया जो उनकी अनुपस्थिति में प्रशासनिक निर्णय लेगी.

पर्रिकर ने गोवा से रवाना होने से पहले राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक से भी मुलाकात की.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने यहां एक बयान में कहा था कि सोमवार को मुख्यमंत्री आगे की स्वास्थ्य जांच के लिए मुंबई जा रहे हैं और डॉक्टरों के परामर्श पर आगे के उपचार के लिए विदेश भी जा सकते हैं.

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि पर्रिकर का मुंबई के लीलावती अस्पताल में इलाज होगा जहां उन्हें पिछले महीने भी भर्ती कराया गया था. उनको मंगलवार शाम को इलाज के लिए अमेरिका जाने की संभावना है.

अस्पताल से छुट्टी मिलने के दिन ही पेश किया था राज्य का बजट

मुख्यमंत्री को 15 फरवरी को लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनका अग्नाश्य संबंधी बीमारी का उपचार हुआ था. 22 फरवरी को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली थी. उसी दिन उन्होंने राज्य का बजट पेश किया था और संक्षिप्त भाषण दिया था.

शरीर में पानी की कमी की शिकायत के बाद मुख्यमंत्री को 25 फरवरी को गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया था. एक मार्च को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी.

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि गोवा मेडिकल कालेज एवं अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद पर्रिकर ने अपने घर से ही काम करना और फाइलें निपटाना शुरू कर दिया था. उन्हें मेडिकल जांच का परामर्श दिया गया था जिसके लिए वह मुंबई रवाना हुए.

मुंबई जाने से पहले पर्रिकर ने वरिष्ठ मंत्रियों, बीजेपी के फ्रांसिस डिसूजा और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के विजय सरदेसाई सहित अन्य से मुलाकात की.

अस्पताल जाने से पहले कैबिनेट सलाहकार समिति गठित

सरदेसाई ने बताया कि मुख्यमंत्री ने एक कैबिनेट सलाहकार समिति गठित की जो वित्तीय मामलों सहित विभिन्न मुद्दों पर राज्य प्रशासन को परामर्श देगी. समिति में वह (सरदेसाई), महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के सुदीन धवलीकर और डिसूजा शामिल हैं.

एमजीपी और जीएफपी गोवा की बीजेपी नीत सरकार का हिस्सा हैं. धवलीकर मुख्यमंत्री के साथ बैठक में शामिल नहीं हो सके क्योंकि वह खनन उद्योग में संकट के मुद्दे पर सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करते हुए नई दिल्ली में हैं.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने पुष्टि की कि राज्य से रवाना होने से पहले, पर्रिकर ने मुख्य सचिव धर्मेंद्र शर्मा तथा मुख्यमंत्री के निजी सचिव पी कृष्णमूर्ति के साथ बैठक की और अत्यावश्यक एवं महत्वपूर्ण मामलों पर दोनों अधिकारियों को निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक मुक्तेश चंदर सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की और उनसे खास मुद्दों पर चर्चा की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi