S M L

मणिपुर: सीएम बीरेन सिंह को मोदी सरकार की कठपुतली बताने के बाद टीवी पत्रकार गिरफ्तार

वांगखेम के वकील एन. विक्टर ने रॉयटर्स को बातचीत में बताया 'ऐसा करना सरकार द्वारा कानून और शक्तियों के एक स्पष्ट दुरुपयोग के अलावा कुछ भी नहीं है.'

Updated On: Dec 19, 2018 03:26 PM IST

FP Staff

0
मणिपुर: सीएम बीरेन सिंह को मोदी सरकार की कठपुतली बताने के बाद टीवी पत्रकार गिरफ्तार

एक टीवी पत्रकार को बीजेपी सरकार की सोशल मीडिया पर आलोचना करने के आरोप में हिरासत में ले लिया है. पत्रकार पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत यह कार्रवाई की गई है.

किशोरचंद्र वांगखेम मणिपुर में एक टीवी चैनल के लिए काम कर रहा था. उसने सोशल मीडिया पर एक वीडियो क्लिप शेयर की थी जिसमें पत्रकार ने सीएम एन बीरेन सिंह को केंद्र सरकार की नरेंद्र मोदी सरकार की 'कठपुतली' बताया था.

विक्टर ने कहा 'उन्होंने गुरुवार को सुनवाई के साथ अपने क्लाइंट की हिरासत के खिलाफ अपील करने की योजना बनाई है.'

पत्रकारों की हत्या और सेंसरशिप लॉ के मुताबिक भारत का वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स में 138वां स्थान है. यह जिम्बाब्वे, अफगानिस्तान और म्यांमार के बाद आता है.

हिरासत में लिए गए पत्रकार की पत्नी रंजिता इलांगबम ने रॉयटर्स को बताया कि 25 नवंबर को रिहाई से पहले वांगखेम को राजद्रोह के तहत गिरफ्तार किया गया था.

इसके बाद 27 नवंबर को उन्हें रासुका के तहत हिरासत में लिया गया, जो उन्हें बिना ट्रायल के एक साल हिरासत में लेने की इजाजत देता है. तब से वह इंफाल में जेल में बंद हैं. अधिनियम के तहत स्थापित जजों के एक बोर्ड ने गुरुवार को उनकी हिरासत को मंजूरी दी.

सीएम बीरेन सिंह की सरकार ने झांसी की रानी लक्ष्मीबाई पर एक कार्यक्रम आयोजित किया था. इसका विरोध करते हुए वांगखेम ने सीएम को मोदी सरकार और आरएसएस की कठपुतली बताया था. उन्होंने कहा था कि रानी लक्ष्मीबाई का मणिपुर के संघर्ष में कोई योगदान नहीं है. उन्होंने आगे लिखा था 'विश्वासघात मत करो, मणिपुर के स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान मत करो.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi