S M L

मेनका गांधी ने बाघिन अवनि की मौत पर उठाए सवाल, बताया अपराध का मामला

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बीजेपी की अगुआई वाली महाराष्ट्र सरकार पर नरभक्षी बाघिन अवनि की हत्या को लेकर निशाना साधा है.

Updated On: Nov 04, 2018 08:40 PM IST

FP Staff

0
मेनका गांधी ने बाघिन अवनि की मौत पर उठाए सवाल, बताया अपराध का मामला
Loading...

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बीजेपी की अगुआई वाली महाराष्ट्र सरकार पर नरभक्षी बाघिन अवनि की हत्या को लेकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि अवनि को मारने के लिए आतंकवादियों को अवैध रूप से हथियारों की आपूर्ति के लिए जेल भेजे गए एक शूटर को बाघिन को मारने के लिए नियुक्त किया गया था. उन्होंने शिकारी पर कई सवाल उठाए हैं और साथ ही इसकी शिकायत महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस से करने की बात भी कही है.

इस बाघिन को शार्प शूटर असगर अली ने मारा. असगर अली मशहूर शार्प शूटर शफत अली के बेटे हैं. मेनका गांधी ने कहा कि उसका बेटा मारने के लिए अधिकृत नहीं था. यह पेटेंट अवैध है. मेनका ने कहा 'हर बार शिकारी के तौर पर शाफत अली खान को बुलाया जाता था लेकिन इस बार उसके बेटे असगर को बुलाया गया. उसका बेटा शिकार के लिए अधिकृत नहीं था. यह पूरी तरह से अवैध और कानून के खिलाफ है.'

मेनका का कहना है कि वन्य अधिकारी अवनि को ट्रैंक्लाइजर के इस्तेमाल से पकड़ना चाहते थे, लेकिन मंत्री के कहने पर असगर ने उसे गोली मार दी. मेनका ने इस मामले को पूरी तरह से अपराध का मामला बताया. मेनका ने कहा कि कई वन्यजीव कार्यकर्ताओं के अनुरोध के बावजूद महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने बाघिन को मारने के आदेश जारी किया.

दरअसल, महाराष्ट्र में पिछले दो सालों में 13 इंसानों की मौत के लिए नरभक्षी बाघिन को जिम्मेदार माना जाता है. वहीं महाराष्ट्र के यवतमाल में इस टाइग्रेस- टी 1 को गोली मार दी गई, जिससे बाघिन की मौत हो गई. सुप्रीम कोर्ट ने इस साल की शुरुआत में अवनि को देखते ही गोली मारने की अनुमति दी थी. जिसके बाद यवतमाल क्षेत्र में अवनि की तलाश पूरी हो गई और उसे घेरकर गोली मार दी गई.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi