S M L

BJP के मंत्री से आदिवासी नाराज, किया सामाजिक बहिष्कार का ऐलान

मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने इसे नक्सल गतिविधियों और अलगाववाद की शुरुआत बता कर आदिवासियों से बड़ा विवाद मोल ले लिया है

FP Staff Updated On: Dec 21, 2017 11:08 PM IST

0
BJP के मंत्री से आदिवासी नाराज, किया सामाजिक बहिष्कार का ऐलान

मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार आदिवासियों को लुभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है. वहीं, प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे के एक बयान के बाद पूरा आदिवासी समाज मंत्री और प्रदेश सरकार के खिलाफ लामबंद हो गया है.

मंत्री के बयान से आहत होकर आदिवासी समाज ने एक कार्यक्रम आयोजित कर मंत्री ओमप्रकाश का सामाजिक बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है.

मंडला जिले के घुघरी तहसील मुख्यालय में आयोजित शहीद वीरनारायण सोनाखान बलिदान दिवस कार्यक्रम में मौजूद हजारों आदिवासियों ने एकजुट होकर आदिवासी रीति-रिवाजों के अनुसार मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे को समाज से बहिष्कृत करने का फरमान जारी किया है.

सामाजिक बहिष्कार का ऐलान

ओमप्रकाश धुर्वे के बयान की कड़ी निंदा करते हुए पूर्व विधायक नारायण पट्टा ने बताया कि सामाजिक पंचायत लगाकर मंत्री का सामाजिक बहिष्कार किया गया है. दरअसल मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने अपने बयान में देश के संविधान में दर्ज पांचवी अनुसूची को डिंडौरी जिले में नक्सल और अलगाववाद का प्रारंभिक रूप बताया था. मंत्री का यह बयान सामने आने के बाद विभिन्न आदिवासी संगठन कड़ा विरोध कर रहे हैं.

आपको बता दें कि मंडला और डिंडौरी जिले में शहपुरा विधानसभा क्षेत्र के मेंहदवानी जनपद पंचायत क्षेत्र के कई गांवों की सीमा पर आदिवासियों की परम्परा के निर्देश पत्थरों पर लिखे गए हैं.

आदिवासियों के मुताबिक यह पांचवीं अनुसूची के तहत कायदे कानून देश के संविधान में भी दर्ज है और संविधान के इसी कायदे कानून को आदिवासियों से जुड़े संगठन गांवों में लागू करना चाहते हैं.

मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने इसे नक्सल गतिविधियों और अलगाववाद की शुरुआत बता कर आदिवासियों से बड़ा विवाद मोल ले लिया है. हालांकि, स्थानीय सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते से जब इस बारे में सवाल पूछा गया तो वह पूरे मामले से अनजान बने रहे. उन्होंने आदिवासी समाज के पांचवीं अनुसूची को लागू करने की मांग को जरूर जायज ठहराया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi