S M L

आलोक वर्मा के समर्थन में SC पहुंचे खड़गे, कहा- CBI चीफ का कार्यकाल नहीं घटा सकते

उन्होंने कहा कि छुट्टी पर भेजने का फैसला लेने से पहले सरकार को प्रधानमंत्री, चीफ जस्टिस और मेरे साथ बैठक करनी थी. बिना किसी बैठक के सरकार ने रातोंरात सीबीआई डायरेक्टर को छुट्टी पर भेज दिया

Updated On: Nov 03, 2018 02:51 PM IST

FP Staff

0
आलोक वर्मा के समर्थन में SC पहुंचे खड़गे, कहा- CBI चीफ का कार्यकाल नहीं घटा सकते
Loading...

सीबीआई बनाम सीबीआई की लड़ाई अदालत में चल ही रही है. इस लड़ाई में अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे भी कूद पड़े हैं. सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा के समर्थन में खड़गे ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. शनिवार को शीर्ष अदालत पहुंचे खड़गे ने कहा कि वर्मा को इस तरह से नहीं हटाया जा सकता है.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाए हैं. खड़गे ने कहा है कि न तो सीवीसी और न ही सरकार को अधिकार है कि वो सीबीआई डायरेक्टर को हटा सके. कानून के मुताबिक, डायरेक्टर का कार्यकाल दो साल का होता है. खड़गे ने सरकार के फैसले को मनमानी भरा कदम बताया है और इसे अवैध करार दिया है.

उन्होंने कहा कि छुट्टी पर भेजने का फैसला लेने से पहले सरकार को प्रधानमंत्री, चीफ जस्टिस और मेरे साथ बैठक करनी थी. बिना किसी बैठक के और बगैर कमेटी के सहमति के सरकार ने रातोंरात सीबीआई डायरेक्टर को अनिश्चितकालीन छुट्टी पर भेज दिया.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि सरकार ने सीबीआई एक्ट का उल्लंघन किया है. सीवीसी ने भी नियमों को ताक पर रखकर छुट्टी पर भेजा. यह साफ तौर पर पीएमओ का स्वायत संस्थानों में हस्तक्षेप है. इसलिए मैंने इस को चुनौती दी है और सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाला है. अब देखते हैं, आगे क्या होता है.

जब सरकार ने सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का फैसला लिया था तभी कांग्रेस ने इसकी आलोचना की थी और सरकार पर निशाना साधा था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहते रहे हैं कि सरकार ने आलोक वर्मा को रातोंरात इसलिए छुट्टी पर भेजा क्योंकि वो राफेल डील में जांच शुरू करने वाले थे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi