S M L

एमपी: मेडिकल टेस्ट के लिए एक रूम में लड़के-लड़कियों के उतरवाए कपड़े

भिंड के जिला अस्पताल में पुरुष डॉक्टर ही लड़कों के साथ-साथ लड़कियों का मेडिकल टेस्ट कर रहे थे. इस दौरान यहां न तो कोई महिला डॉक्टर और न ही नर्स मौजूद थी

FP Staff Updated On: May 02, 2018 04:55 PM IST

0
एमपी: मेडिकल टेस्ट के लिए एक रूम में लड़के-लड़कियों के उतरवाए कपड़े

मध्य प्रदेश में दलितों से भेदभाव का विवाद थमा भी नहीं था कि अब एक और  मामला सामने आ गया है. भिंड जिले में पुलिस भर्ती के लिए करवाए जा रहे मेडिकल टेस्ट के दौरान लड़के और लड़कियों को एक ही कमरे में कपड़े उतारने को कहा गया.

एनडीटीवी के अनुसार यहां के जिला अस्पताल में कॉन्स्टेबल भर्ती के मेडिकल टेस्ट के लिए लड़के और लड़कियों दोनों को बुलाया गया था. इस दौरान लड़कों को लड़कियों के सामने ही अपने कपड़े उतारने को कहा गया.

हैरान करने वाली बात यह थी कि इसी कमरे में पुरुष डॉक्टर लड़कियों का भी मेडिकल टेस्ट कर रहे थे. इस दौरान यहां न तो कोई महिला डॉक्टर और न ही नर्स मौजूद थी.

'घटना के जांच के दिए आदेश, दोषियों के खिलाफ करेंगे कार्रवाई'

मामला सामने आने के बाद भिंड जिले के सिविल सर्जन ने कहा, 'इस बारे में मेडिकल टेस्ट समिति के सदस्यों को चेतावनी पत्र जारी किया गया है. हमने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं. जो भी इसमें दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.' मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

लड़कियों के मेडिकल टेस्ट के दौरान वहां महिला डॉक्टर और नर्स नहीं मौजूद रहने पर उन्होंने सफाई देते हुए कहा, 'जिला अस्पताल में मात्र 4 महिला डॉक्टर हैं. जिनमें से 3 वर्तमान में मेडिकल लीव पर हैं. अब 1 महिला डॉक्टर और 1 नर्स को इस काम में (लड़कियों के मेडिकल टेस्ट) लगाया गया है.'

सूत्रों के अनुसार भिंड पुलिस लाइन में 217 पुरुष और महिला कॉन्स्टेबलों की भर्ती हुई है. इनका अलग-अलग चरणों में जिला अस्पताल में मेडिकल टेस्ट किया जा रहा है. इसी सिलसिले में बुधवार को भिंड जिला अस्पताल में कुल 21 लड़कों और 18 लड़कियों का मेडिकल टेस्ट करवाया गया.

चंद दिन पहले ही राज्य के धार जिले में पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती के लिए चयनित उम्मीदवारों के मेडिकल टेस्ट के दौरान उनकी छाती पर एसएसी/एसएसटी लिख दिया था. इसे लेकर काफी विवाद हुआ था. इस मामले में दो पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया था. इसके अलावा मध्य प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने घटना की जांच के आदेश भी दिए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi