S M L

महाराष्ट्र में 12वीं की किताब में बेटियों की बदसूरती को बताया दहेज की वजह

महाराष्ट्र के हायर सेकेंड्री की किताब में दहेज प्रथा की दी गई वजह चौंकाने वाली है.

Updated On: Feb 02, 2017 01:43 PM IST

FP Staff

0
महाराष्ट्र में 12वीं की किताब में बेटियों की बदसूरती को बताया दहेज की वजह

महाराष्ट्र के हायर सेकेंड्री स्कूल की सोशियोलॉजी के टेक्स्टबुक में दहेज प्रथा को लेकर आपत्तिजनक बातें लिखी गई हैं. हैरानी की बात है कि ये टेक्स्टबुक सिलेबस में आराम से पढ़ाई जा रही है.

12वीं कक्षा की सोशियोलॉजी की इस किताब में दहेजप्रथा की वजह लड़कियों की बदसूरती को बताया गया है.

डीएनए ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि भारत की बड़ी सामाजिक समस्याएं नाम के चैप्टर में दहेज प्रथा की बात की गई है. इस चैप्टर में दहेज प्रथा को लेकर कुछ ऐसी बातें लिखी गई हैं.

'अगर एक लड़की बदसूरत और अपंग है तो ये उसके परिवार के लिए एक मुसीबत बन जाती है. उसकी शादी के लिए उन्हें काफी परेशानियां उठानी पड़ती हैं. ऐसी लड़की से शादी करने के लिए दूल्हा और उसका परिवार ज्यादा दहेज की मांग करते हैं. ऐसी लड़की के माता-पिता को उनकी मांग के हिसाब से दहेज जुटाना पड़ता है. इससे समाज में दहेज प्रथा की प्रवृत्ति बढ़ती है.'

जहां आज इन कुरीतियों को जड़ से उखाड़ने पर जोर देने की जरूरत है. और आने वाली पीढ़ी को ये सिखाने की जरूरत है कि किसी का चेहरे और शारीरिक सुंदरता उतनी जरूरी नहीं, जितनी उनका स्वभाव और व्यवहार. वहीं, महाराष्ट्र में मिल रही ये शिक्षा बच्चों को क्या सिखाएगी ये तो सिलेबस बनाने वालों से ही पूछा जाना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi