S M L

राम मंदिर की मांग करते हुए अनशन पर बैठे संत, पुलिस ने जबरन उठाया

तपस्वी छावनी मंदिर के महंत राम परमहंस दास ने 1 अक्टूबर को राम मंदिर निर्माण के लिए मांग करते हुए आमरण अनशन पर बैठे थे

Updated On: Oct 08, 2018 07:35 PM IST

FP Staff

0
राम मंदिर की मांग करते हुए अनशन पर बैठे संत, पुलिस ने जबरन उठाया

राम मंदिर बनाने की मांग को लेकर अयोध्या में आमरण अनशन पर बैठे मंहत परमहंस दास को रविवार देर रात पुलिस ने जबरन उठा लिया हैं. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह से अनशन पर बैठे परमहंस की हालात लगातार खराब हो रही थी. इसी के चलते पुलिस ने उन्हें अनशन स्थल से हिरासत में ले लिया. और उपचार के लिए अस्पताल ले गए.

गौरतलब है कि परमहंस ने शनिवार को कहा था कि फैजाबाद जिला प्रशासन उन्हें धमका रहा है और अनशन खत्म करने के लिए दवाब बना रहा है. शुक्रवार को भी एडीएम सिटी और अयोध्या सीओ ने अनशन स्थल पर मौजूद लोगों को भगा दिया था. महंत परमहंस का कहना है कि मौजूदा सरकार उनके अनशन से बौखला गई है इसलिए प्रशासन उन पर अनशन खत्म करने का दवाब बना रहा था.

महंत परमहंस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी सरकार पर आरोप लगाया था कि वह राम मंदिर बनाने के पक्ष में नहीं है. उन्होंने कहा कि जल्द ही चुनावों की घोषणा हो जाएगी और आचार संहिता लागू हो जाएगी. ऐसे में अगर जल्द ही मंदिर निर्माण शुरू नहीं किया गया तो यह मामला कई वर्षों के लिए लटक जाएगा.

तपस्वी छावनी मंदिर के महंत राम परमहंस दास ने 1 अक्टूबर को राम मंदिर निर्माण के लिए मांग करते हुए आमरण अनशन पर बैठे थे. महंत परमहंस दास ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए काफी समय से लोग हर तरह के प्रयास करते आ रहे हैं. बीजेपी सरकार ने अपने एजेंडे में राम मंदिर निर्माण को रखा था इस समय केंद्र और राज्य सरकार बहुमत में हैं लेकिन अभी तक राम मंदिर निर्माण को लेकर कोई कार्य नहीं किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi