S M L

बिहार सुसाइडः बेटे की तरह था देवर, घर में बने रहने के लिए की शादी

रूबी की शादी साल 2013 में सतीश दास से हुई थी. इस वक्त उसे एक तीन साल की बेटी और एक साल का बेटा भी है

FP Staff Updated On: Dec 15, 2017 12:28 PM IST

0
बिहार सुसाइडः बेटे की तरह था देवर, घर में बने रहने के लिए की शादी

बिहार के गया जिले में विधवा भाभी से जबरन शादी कराए जाने पर 9वीं कक्षा के एक छात्र ने बुधवार को फांसी लगा ली थी. अब इस मामले में मृतक महादेव की भाभी यानी रूबी देवी का बयान आया है. उसका कहना है कि महादेव उसके बेटे की तरह था. उसने केवल खुद को घर में बनाए रखने के लिए उससे शादी को राजी हुई थी.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक रूबी ने कहा कि उसके ससुर ने मायके भेजने से इनकार कर दिया. कहा कि घर की इज्जत घर में ही रहेगी. उनकी जिद की वजह से ही शादी करनी पड़ी. रूबी के मुताबिक पति सतीश दास के मौत के बाद जो मुआवजा राशि मिली थी, उसमें वो हिस्सा मांग रही थी. जिसे ससुर ने देने से इनकार कर दिया.

ससुर चंद्रेश्वर दास का कहना था कि हिस्सा तभी मिलेगा जब वो अपने से दस साल छोटे देवर से शादी कर लेगी. वो घर में भी हिस्सा मांग रही थी. ससुर के मुताबिक मुआवजे में मिली 80 हजार में 53 हजार तभी देगा, जब वो महादेव के संग शादी कर लेगी.

तीन साल की बेटी और एक साल का बेटा भी है रूबी को 

इसके बाद 11 दिसंबर को उसकी शादी महादेव के संग हो गई. शाम 6 बजे महादेव आया, उसने मुझ से बात नहीं की. मैं भी बच्ची के संग घर में जाकर सो गई. इसके अगली सुबह 12 दिसंबर को उसके फांसी लगाने की खबर आई.

रूबी ने बताया कि महादेव इसके लिए तैयार नहीं था. उसने कहा था कि वो शादी कर लेगा, लेकिन अभी नहीं. पहले अपनी पढ़ाई पूरी करेगा. हालांकि वो इसके लिए तैयार नहीं थी. वो महादेव के 21 साल पूरा होने तक इंतजार नहीं कर सकती थी.

रूबी की शादी साल 2013 में सतीश दास से हुई थी. इस वक्त उसे एक तीन साल की बेटी और एक साल का बेटा भी है. पिछले महीने एक दुर्घटना में उसके पति की मौत हो गई. उसके बाद से ही सुसुर अपने छोटे बेटे यानी महादेव पर शादी करने के लिए दबाव बनाने लगे. इधर रूबी की मां भी रूबी पर शादी करने के लिए दबाव बनाने लगी.

पुलिस केस में इन दोनों के मुख्य अभियुक्त बनाया गया है. रूबी इस समय गया से 20 किलोमीटर दूर अपने ससुराल विनोबानगर में ही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi