Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

दिल्ली मेट्रो: मुसाफिरों को मिलने वाला है बड़ा तोहफा

एक बड़ा फायदा मेट्रो के जरिए दिल्ली एयरपोर्ट तक पहुंचने वाले लोगों को भी मिलने वाला है

FP Staff Updated On: Sep 26, 2017 10:36 PM IST

0
दिल्ली मेट्रो: मुसाफिरों को मिलने वाला है बड़ा तोहफा

दिल्ली मेट्रो का तीसरा फेज मार्च 2018 तक चालू हो जाएगा. फेस-3 के तहत मजेंटा लाइन और पिंक लाइन पर मेट्रो ट्रेन चलने लगेगी. माना जा रहा है कि मजेंटा लाइन शुरू होने से सबसे ज्यादा फायदा गुरुग्राम और नोएडा के बीच सफर करने वालों को होगा.

मजेंटा लाइन के जरिए नोएडा और गुरुग्राम के बीच मेट्रो से सफर करने वाले मेट्रो के जरिए गुरुग्राम से नोएडा या नोएडा से गुरुग्राम आना और जाना करते हैं, तो दिन में दो बार 40 मिनट कम लगेंगे, यानी रोज के 80 मिनट बचेंगे.

गुरुग्राम के हुडा सिटी सेंटर से नोएडा के बॉटैनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक पहुंचने में अभी 90 मिनट का वक्त लगता है. जबकि मजेंटा लाइन शुरू होने के बाद ये वक्त घट कर 50 मिनट रह जाएगा.

वक्त इसलिए कम लगेगा क्योंकि मजेंटा लाइन शुरू होने के बाद गुरुग्राम से येलो लाइन के जरिए आपको राजीव चौक तक आकर ब्लू लाइन में बैठने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

बल्कि आप हौजखास मेट्रो स्टेशन से ही मेट्रो बदल पाएंगे और मजेंटा लाइन के जरिए सीधा बॉटैनिकल गार्डन तक पहुंच जाएंगे. इस नए रूट के शुरू होने के बाद नोएडा और गुरुग्राम के बीच आपको 9 स्टेशन कम पार करने होंगे.

बॉटैनिकल गार्डन से हौजखास मेट्रो स्टेशन तक पहुंचने में अभी कुल 22 स्टेशन पार करने पड़ते हैं. इनमें 9 स्टेशन येलो लाइन पर और 13 स्टेशन ब्लू लाइन मेट्रो पर होते हैं. लेकिन नई लाइन शुरू होने के बाद हौजखास मेट्रो स्टेशन से केवल 13वां स्टेशन बॉटैनिकल गार्डन होगा.

जनकपुरी पश्चिम मेट्रो स्टेशन से मजेंटा लाइन मेट्रो की शुरुआत होगी. जनकपुरी पश्चिम पहले से दिल्ली मेट्रो की ब्लू लाइन पर है. यानी ब्लू लाइन पर सफर करने वाले यात्री जनकपुरी पश्चिम पहुंच कर मजेंटा लाइन में सवार हो सकते हैं. मजेंटा लाइन पर जनकपुरी से 12वां स्टेशन हौजखास होगा.

जहां से येलो लाइन के लिए मेट्रो बदली जा सकती है. फिर हौजखास से 5वां स्टेशन कालकाजी मंदिर होगा. ये भी एक इंटरचेंज मेट्रो स्टेशन होगा जहां से आप वॉयलेट लाइन मेट्रो में सवार होने के लिए ट्रेन बदल सकते हैं. वॉयलेट लाइन फरीदाबाद और दिल्ली को जोड़ती है और कालकाजी मंदिर से 8वां स्टेशन नोएडा का बॉटैनिकल गार्डन होगा. इस तरह से इस ट्रैक पर कुल 25 स्टेशन होंगे.

दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन शुरू होने के बाद राजीव चौक मेट्रो स्टेशन से यात्रियों का बोझ काफी हद तक घटने की उम्मीद है. ऐसा इसलिए है क्योंकि नोएडा से गुरुग्राम के बीच सफर करने वालों को राजीव चौक स्टेशन पर आने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी.

अभी हर रोज 5 लाख यात्री राजीव चौक पर पहुंचते हैं

फिलहाल राजीव चौक दिल्ली का सबसे ज्यादा भीड़भाड़ वाला मेट्रो स्टेशन है. DMRC के आंकड़ों के मुताबिक राजीव चौक पर रोज 5 लाख यात्री पहुंचते हैं. राजीव चौक पर भीड़भाड़ कम होने से उन यात्रियों का भी सफर आसान होगा, जिन्हें मजेंटा लाइन का इस्तेमाल करने की कोई जरूरत नहीं होगी.

एक बड़ा फायदा मेट्रो के जरिए दिल्ली एयरपोर्ट तक पहुंचने वाले लोगों को भी मिलने वाला है. मजेंटा लाइन पर इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 'टर्मिनल 1' स्टेशन भी बनाया गया है. ग्रेटर नोएडा, नोएडा, सरिता विहार या फिर कालिंदी कुंज की तरफ से एयरपोर्ट पहुंचने के लिए मार्च 2018 से मेट्रो बदलने की जरूरत नहीं रहेगी और दूरी भी पहले के मुकाबले कम हो जाएगी.

इसके अलावा दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन भी फेस थ्री के तहत मार्च 2018 तक शुरू होने वाली है. पिंक लाइन शिव विहार से मजलिस पार्क को जोड़ने वाली लाइन है.जो शुरू होने के बाद दिल्ली मेट्रो की अब तक की सबसे लंबी मेट्रो सेवा होगी. इसकी लंबाई कुल करीब 59 किलोमीटर होगी जिस पर कुल 38 मेट्रो स्टेशन होंगे.

[न्यूज़ 18 इंडिया से साभार]

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi