S M L

44 की उम्र में अपने बेटे के साथ 10वीं की तैयारी कर रही है ये महिला

44 साल की रजनी बाला अपने ने अपने बेटे के साथ 10वीं बोर्ड की परीक्षा की तैयारी कर रही हैं

Updated On: Mar 29, 2018 10:53 AM IST

FP Staff

0
44 की उम्र में अपने बेटे के साथ 10वीं की तैयारी कर रही है ये महिला

पढ़ने-लिखने की कोई उम्र नहीं होती, ये बात हाल ही में एक महिला ने साबित की है. 44 साल की रजनी बाला अपने बेटे के साथ 10वीं बोर्ड की परीक्षा की तैयारी कर रही हैं. उन्होंने 1989 में 9वीं क्लास पास की थी और उसके बाद पारिवारिक दिक्कतों के चलते उन्हें पढ़ाई छोड़नी पड़ी और जल्द ही उनकी शादी भी कर दी गई है.

न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि मेरे पति कई सालों से मुझे पढ़ाई पूरी करने को कह रहे थे. मेरे तीन बच्चे हैं और उन्हें पढ़ाना जरूरी है. मैं एक सिविल अस्पताल में वार्ड अटेंडेंट के रूप में काम कर रही हूं. लेकिन मुझे भी लगता था कि कम से कम 10वीं तो पास कर लेनी चाहिए. इसलिए मैंने अपने बेटे के साथ ही तैयारी करनी शुरू की, वो भी 10वीं क्लास में है. हम साथ स्कूल जाते हैं और साथ में पढ़ते हैं.

रजनी ने कहा कि शुरू के दिनों में अजीब लगता था. लेकिन मेरे पति, बच्चों और मेरी सास के सपोर्ट से मैं मुश्किलों का सामना कर पाई. उन्होंने बताया कि मेरी सास पढ़ी-लिखी नहीं हैं. लेकिन उन्होंने हमेशा मुझे प्रोत्साहित किया है. मेरे पति बहुत सपोर्टिव हैं. वो सुबह जल्दी उठकर मुझे और मेरे बेटे को पढ़ाते हैं. मेरी बेटियां भी पढ़ाई में मेरी मदद करती हैं. मैं अब ग्रेजुएशन भी करना चाहती हूं.

लाजवंती सीनियर सेकेंड्री स्कूल के प्रिंसिपल, जहां रजनी और उनका बेटा पढ़ते हैं. उन्होंने भी रजनी के इस फैसले का सपोर्ट करते हए कहा कि जब लोग कई सालों बाद अपनी पढ़ाई पूरी करने आते हैं, तो इससे समाज में अच्छा संदेश जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi