S M L

Apple के मैनेजर की हत्या का मामला: परिवार ने पूछा- आतंकवादी थे, जो मार दी गोली?

एसपी ने बताया कि मामले की बारीकी से जांच के लिए एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है, वहीं आरोपी कॉन्स्टेबल संदीप और प्रशांत चौधरी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है

Updated On: Sep 29, 2018 02:57 PM IST

FP Staff

0
Apple के मैनेजर की हत्या का मामला: परिवार ने पूछा- आतंकवादी थे, जो मार दी गोली?

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के वीआईपी इलाके में शुक्रवार रात एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने एक युवक को गोली मार दी थी जिसके बाद से मामला काफी गरमाया हुआ है. बता दें कि मरने वाले युवक की पहचान एपल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी के रूप में हुई है. हादसे के बाद विवेक की पत्नी भी टूट गई हैं. उन्होंने पुलिस से पूछा है कि क्या उनके पति आतंकवादी थे जो बिना कुछ सोचे समझे उन पर गोली चला दी.

लखनऊ पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी घटना की जानकारी

इस मामले में शनिवार सुबह से ही कई खुलासे हो रहे हैं. लखनऊ पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घटना के बारे में कई जानकारी दी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया कि विवेक के साथ गाड़ी में मौजूद उनकी सहकर्मी सना ने ही पुलिस को मदद के लिए फोन किया था. जिसके बाद पुलिस ने वहां पहुंचकर दोनों को अस्पताल भेजा.एसएसपी ने बताया कि मामले की बारीकी से जांच के लिए एक एसआईटी टीम का गठन किया गया है. वहीं आरोपी कॉन्स्टेबल संदीप और प्रशांत चौधरी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

एसएसपी नैथानी ने कहा कि मौके से पुलिस की सिपाहियों की मोटरसाइकिल मिली थी जिसकी हालत काफी खराब थी. इसके अलावा आरोपी दोनों कॉन्स्टेबलों के घुटने में चोट लगी थी. हालांकि इस चोट की जांच की जाएगी कि आखिर यह उन्हें कैसे लगी. उन्होंने कहा कि विवेक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने से हुई मौत का कारण साफ साफ लिखा है. वहीं सिपाहियों से पूछताछ जारी है. एसएसपी ने बताया कि यह घटना रात के डेढ़बजे के आसपास की है.

सना पर पुलिस की तरफ से नहीं है कोई दवाब

गाड़ी में मौजूद विवेक की सहकर्मी सना के बारे में एसएसपी ने कहा कि वह मीडिया के सामने आकर बात रख सकती है. उन पर कोई दवाब नहीं है. वह बिल्कुल अपनी मर्जी से काम कर सकती है. कैरेक्टर को लेकर किसी ने बयान नहीं दिया है. ये बिल्कुल झूठ है. विवेक और सना को लेकर भी किसी ने कोई बात नहीं की है. सना विवेक की पत्नी का नाम जानती थीं लेकिन वह उनका पता नहीं बता पा रही थीं. बाद में विवेक के मोबाइल से पत्नी का नंबर प्राप्त हुआ. सिपाहियों के खिलाफ पूरी जांच होगी. एसएसपी ने बताया कि घटना के समय कोई भी शख्स नशे में नहीं था. सिपाहियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत मौजूद हैं. दोनों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज हुआ है. दोनों आरोपी कॉन्स्टेबल गिरफ्तार कर लिए गए हैं.

एडीजी ने कहा कानून का उल्लंघन हुआ

वहीं यूपी के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने इस मामले में कहा कि यह एक बहुत ही दुखद घटना है. आईपीसी की धारा 302 के तहत दोनों सिपाहियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है. दोनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इस घटना में कानून को अपने हाथ में लिया गया है. इस मामले में कानून का उल्लंघन किया गया है. अगर घटना के दौरान गोली चलाने की जरूरत थी तो कॉन्स्टेबल गाड़ी के टायर पर भी गोली चला सकते थे.

वहीं विवेक तिवारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बारे में लोहिया अस्पताल के डायरेक्टर देवेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि विवेक को बाईं तरफ के कान के पास सिर पर गोली लगी थी. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi