विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

मदरसों की देशभक्ति का टेस्‍ट लेगी योगी सरकार, 15 अगस्त समारोह की होगी वीडियोग्राफी

यूपी मदरसा बोर्ड की तरफ से जारी इस आदेश का विरोध भी शुरू हो गया है

FP Staff Updated On: Aug 11, 2017 12:50 PM IST

0
मदरसों की देशभक्ति का टेस्‍ट लेगी योगी सरकार, 15 अगस्त समारोह की होगी वीडियोग्राफी

सूबे की योगी सरकार ने प्रदेश के सभी मदरसों में इस बार स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार कर ली है और इन कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी कराने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं. यह पहला मौका है जब ऐसे निर्देश जारी किए गए हैं.

इसके पीछे सरकार का फौरी मकसद राष्ट्रीय पर्व को लेकर मदरसों की हकीकत का पता लगाना बताया जा रहा है. हालांकि यूपी मदरसा बोर्ड की तरफ से जारी इस आदेश का विरोध भी शुरू हो गया है. मदरसा संगठनों ने कहा है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्हें शक की नजरों से देखा जा रहा है.

दरअसल मदरसा परिषद बोर्ड की ओर से 3 अगस्त को जिला अल्पसंख्यक अधिकारी को एक पत्र भेजा गया है. इसमें निर्देश दिया गया है कि स्वतंत्रता दिवस पर सुबह आठ बजे झंडारोहण एवं राष्ट्रगान होगा. सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. इन सभी कार्यक्रमों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कराकर जिले के अल्पसंख्यक अधिकारी को सौंपने का भी निर्देश दिया गया है.

madarsa-board

इस बीच मदरसा प्रबंधक हाजी सैयद तहव्वर हुसैन ने परिषद द्वारा जारी पत्र की मंशा पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि जंग-ए-आजादी में मदरसा और यहां के शिक्षकों को बहुमूल्य योगदान रहा हैं. इसके बावजूद मदरसों को शक की निगाह से देखा जाना दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय हैं.

आल इण्डिया टीचर्स एसोसिएशन मदारिसे अरबिया गोरखपुर शाखा के जनरल सेक्रेट्ररी हाफिज नजरे आलम कादरी ने कहा कि शासनादेश के अनुसार प्रातः 8 बजे झंडारोहण एवं राष्ट्रगान व प्रातः 8.10 बजे से स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि मदरसों के छात्र-छात्राओं द्वारा राष्ट्रीय गीतों का प्रस्तुतिकरण व अन्य सांस्कृतिक प्रोग्रामों का आयोजन करने के साथ उनकी फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी कराने का निर्देश जारी किया है.

उन्होंने कहा कि यह बात जगजाहिर हैं कि मदरसों में देश प्रेम और भाईचारे का पाठ पढ़ाया जाता है. राष्ट्रीय पर्वों पर भव्य प्रोग्राम आयोजित होते है लेकिन जिस तरह से दिशा निर्देश जारी किया गया है उससे कहीं न कहीं शासन की मंशा पर सवाल जरूर खड़ा होता हैं.

( साभार: न्यूज 18 )

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi