S M L

शत्रु संपत्ति के मामले में उत्तर प्रदेश अव्वल

पूरे देश में 2168 शत्रु संपत्तियां हैं जिनमें अकेले 1468 यूपी में है

FP Staff Updated On: Mar 15, 2017 06:49 PM IST

0
शत्रु संपत्ति के मामले में उत्तर प्रदेश अव्वल

लोक सभा में 'शत्रु संशोधन विधेयक' पास होने के बाद पाकिस्तान और चीन में बस चुके लोगों का अब भारत में उनकी संपत्ति पर मालिकाना हक नहीं होगा. इस विधेयक को राज्य सभा पहले ही पास कर चुकी है.

पूरे देश में 2168 शत्रु संपत्तियां दर्ज हैं, जिनमें अकेले 1468 यूपी में है. राजधानी लखनऊ में 125 से ज्यादा शत्रु संपत्तियां हैं. जिन पर अब सरकार का कब्जा होगा.

वर्तमान में राजा महमूदाबाद मोहम्मद आमिर मोहम्मद खान से जुड़ा बटलर पैलेस, हलवासिया कोर्ट, लारी बिल्डिंग, महमूदाबाद मेंशन, पुराना एसएसपी कार्यालय भवन, कैसरबाग हाता, गोलागंज स्थित लाल कोठी, अमीना बाद की वारसी बिल्डिंग, चौक इलाके की कनीज सईदा बेगम पुरानी बाड़ी खाना कोठी, क्ले स्क्वायर स्थित हैदरी बेगम हवेली, अब्दुल लतीफ़ हाता खां, अब्दुल खलीम की नौबस्ता स्थित पुरानी ईमारत और सिद्दीकी बिल्डिंग समेत 125 से ज्यादा शत्रु संपत्तियां हैं.

सबसे ज्यादा 112 संपत्तियां सदर में हैं, 9 मलीहाबाद, 29 मोहनलालगंज, और 17 बीकेटी तहसील क्षेत्र में हैं.

ज्यादातर शत्रु संपत्तियों में खुले हैं शो रूम, दुकानें

हजरतगंज में स्थित ज्यादातर शत्रु संपत्तियों में शो रूम, दुकानें, होटल और रेस्तरां खुले हैं. इनमें से अधिकांश पर उप शत्रु संपत्ति अभिरक्षक के बतौर कस्टोडियन बन प्रशासन काबिज है.

इनमें से अधिकांश संपत्तियों के भवन का प्रयोग किराए पर हो रहा है. भारत सरकार के अनुसार इन संपत्तियों की वर्तमान में कीमत एक लाख करोड़ के करीब है.

1931 में राजा महमूदाबाद अली मोहम्मद खान के निधन के बाद उनके इकलौते वारिश राजा महमूदाबाद मोहम्मद आमिर मोहम्मद खान 1945 में आजादी से पहले ही इराक चले गए. वहां से वे 1957 में पाकिस्तान में बस गए. उसके बाद वे लंदन में बसे.

न्यूज 18 से साभार

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi