S M L

नाभा जेल ब्रेक: एक करोड़ लेकर छोड़ा मास्टरमाइंड को, योगी ने दिए जांच के आदेश

सीएम के निर्देश पर प्रमुख सचिव गृह ने एडीजी के नेतृत्व में मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं

Updated On: Sep 21, 2017 05:04 PM IST

FP Staff

0
नाभा जेल ब्रेक: एक करोड़ लेकर छोड़ा मास्टरमाइंड को, योगी ने दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश में एक तरफ पुलिस अपराधियों को एनकाउंटर में खत्म कर रही है. वहीं दूसरी तरफ पुलिस अधिकारी करोड़ रुपए घूस लेकर नाभा जेल ब्रेक के मास्टरमाइंड को छोड़ रहे हैं. मामला सामने आते ही यूपी सरकार ने उक्त पुलिस अधिकारी के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं.

जानकारी के मुताबिक पंजाब की नाभा जेल ब्रेक के मास्‍टरमाइंड गोपी घनश्यामपुरा को छोड़ उत्‍तर प्रदेश के एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने एक करोड़ रुपए घूस लेकर छोड़ दिया है.

इस मामले की जब मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को जानकारी मिली, तो उन्‍होंने मंगलवार शाम प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार और पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह को तलब किया. सीएम के निर्देश पर प्रमुख सचिव गृह ने एडीजी के नेतृत्व में मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं.

 

एक करोड़ रुपए की हुई है डील 

आरोप है कि पंजाब के एक बड़े अपराधी और शराब व्यापारी के माध्‍यम से घनश्यामपुरा को छुड़ाने के लिए एक करोड़ रुपये की डील हुई. प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार के मुताबिक एडीजी स्तर के अधिकारी की अगुवाई में उच्च स्तरीय कमेटी प्रकरण की जांच करेगी.

27 नवंबर 2016 को खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट और बब्बर खालसा के आतंकवादियों को पटियाला की नाभा जेल से छुड़ा लिया गया था. आतंकियों को छुड़ाने के लिए अपराधी पुलिस की वर्दी में आए थे.

इस मामले के मास्‍टरमाइंड गोपी घनश्याम पुरा को उत्‍तर प्रदेश में 10 सितंबर को शाहजहांपुर से गिरफ्तार कर लिया गया.

फेसबुक से यूपी पुलिस को  मिली मामले की जानकारी 

इसके बाद घनश्यामपुरा के दोस्‍त और नाभा जेल से फरार होने वाले अपराधियों में से एक हरजिंदर सिंह भुल्लर उर्फ विक्की गोंड ने फेसबुक पर गोपी घनश्यामपुरा को लखनऊ में गिरफ्तार किए जाने की खबर पोस्ट की.

पंजाब पुलिस ने भी यूपी के पुलिस अफसरों से गोपी की गिरफ्तारी से जुड़ी जानकारी मांगी तो अफसरों ने कोई भी जानकारी होने से इंकार कर दिया. इसके बाद जानकारी मिली कि उसे छोड़ने के बदले यूपी की एक स्पेशल फोर्स के आईजी से एक करोड़ रुपये की डील हो गई है.

इस पूरे मामले की मध्यस्तता कांग्रेस के एक नेता ने की. हिरासत में लिए गए अपराधी घनश्यामपुरा को छोड़ने के लिए जिस अफसर का नाम सामने आ रहा है वह लखनऊ में ही तैनात है.

नाभा जेल ब्रेक के मामले में पंजाब पुलिस मास्टरमाइंड गोपी घनश्यामपुरा की तलाश कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi