S M L

कर्जमाफी अब फैशन बनता जा रहा है: वेंकैया नायडू

सीताराम येचुरी ने कहा कि पिछले तीन साल में 36-40, 000 किसानों ने आत्म्हत्या की है

FP Staff Updated On: Jun 22, 2017 02:18 PM IST

0
कर्जमाफी अब फैशन बनता जा रहा है: वेंकैया नायडू

जहां देश के कई राज्यों में किसानों के आंदोलन और लगातार हो रही किसान आत्महत्या को देखते हुए राज्य सरकारें कर्जमाफी का एलान कर रही हैं. वहीं केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने इस मामले पर कहा कि कर्जमाफी एक फैशन बन गई है.

नायडू ने गुरुवार को कहा कि कर्जमाफी अब फैशन बन गई है, इसे माफ किया जाना चाहिए लेकिन मुश्किल परिस्थितियों सिर्फ यही अंतिम समाधान नहीं है. सिस्टम का ध्यान रखते हुए आपको किसानों की देखभाल भी करनी है.

वेंकैया नायडू के इस बयान पर सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि पिछले तीन साल में 36-40, 000 किसानों ने आत्म्हत्या की है और आप कर्जमाफी को फैशन बता रहे हैं. ये सीधे-सीधे अन्नदाता का अपमान है.

अभी हाल ही में महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के मंदसौर में किसानों के आंदोलन ने काफी हिंसक रूप ले लिया था. इसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने किसानों की कर्जमाफी का एलान किया. कर्नाटक सरकार ने भी राज्य के किसानों को बड़ी राहत दी है. राज्य की सिद्धारमैया सरकार ने बुधवार को किसानों के 50 हजार रुपए तक के फसली कर्ज माफ करने की घोषणा की.

उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और पंजाब के बाद किसानों के कर्ज माफ करने वाला कर्नाटक देश का चौथा ऐसा राज्य हो गया है. किसानों को मिलने वाली यह राहत राज्य के पिछले 42 साल के सबसे बड़े सूखे से राहत दिलाने में मदद करेगी.

दो दिन पहले कांग्रेस शासित एक और राज्य पंजाब ने पांच एकड़ जमीन वाले छोटे किसानों के दो लाख रुपए तक के फसली कर्ज माफ करने की घोषणा की थी. हालांकि कर्जमाफी को कहीं न कहीं वोटबैंक बनाने का ही साधन माना जा रहा है. अगले साल कर्नाटक में विधानसभा के चुनाव होने हैं. ऐसे में सिद्धारमैया सरकार द्वारा की गई कर्ज माफी की इस घोषणा को किसानों को लुभाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi