S M L

बिहार विधानसभा में शराबबंदी का नया बिल पारित, नरम हुए कई प्रावधान

पहले घर में शराब पीते पकड़े जाने पर 18 साल से ज्यादा उम्र के परिवार के सभी सदस्यों को सजा होती थी लेकिन अब सिर्फ उसी व्यक्ति को सजा होगी जो शराब पीते पकड़ा जाएगा

FP Staff Updated On: Jul 23, 2018 05:27 PM IST

0
बिहार विधानसभा में शराबबंदी का नया बिल पारित, नरम हुए कई प्रावधान

बिहार विधानसभा में सोमवार को शराबबंदी का नया बिल पारित कर दिया गया. नए बिल में शराबबंदी के प्रावधानों में थोड़ी नरमी बरती गई है.

शराबबंदी का कानून पारित होने के बाद इसके सख्त प्रावधानों को लेकर काफी आलोचना हो रही थी. सरकार ने इसमें कुछ रियायत देने का ऐलान किया था. इसी को देखते हुए सोमवार को नया बिल पारित किया गया.

शराबबंदी विधेयक पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, शराबबंदी कानून गरीबों के लिए लाया गया था. गरीब लोग अपनी कमाई का ज्यादातर हिस्सा शराब खरीदने पर खर्च कर देते थे. घर में क्लेश चरम पर था. मैंने गरीबों की भलाई के लिए शराब पर रोक लगाई.

पहले की तुलना में अब के कानून में बड़ा बदलाव किया गया है. इनमें गिरफ्तारी से लेकर जमानत और जब्ती की धाराओं में काफी हद तक नरमी बरती गई है.

पहले शराब पीते पकड़े जाने पर जमानत का प्रावधान नहीं था और जेल की हवा खाना अनिवार्य था. सजा भी 5 साल की थी. अब ऐसा नहीं होगा. शराब पीते पकड़े जाने पर जमानत का प्रावधान कर दिया गया है. साथ ही सजा भी 5 साल के बजाय 3 महीने की होगी.

पहले शराब बनाते, उसकी तस्करी करते या बेचते पकड़े जाने पर 10 साल से लेकर ताउम्र कारावास का कानून था. अब इसे घटाकर 5 साल कर दिया गया है. दोबारा यह अपराध करते पकड़े जाने पर 10 साल की सजा दी जाएगी.

पहले के कानून में यह था कि अगर घर में शराब की खाली बोतल भी मिली तो सबकुछ जब्त कर लिया जाता था. अब ऐसा नहीं होगा. यह अलग बात है कि तस्करी करते पकड़े जाने पर घर, जमीन और गाड़ी जब्त करने का प्रावधान पहले की तरह रखे गए हैं.

पहले घर में शराब पीते पकड़े जाने पर 18 साल से ज्यादा उम्र के परिवार के सभी सदस्यों को सजा होती थी लेकिन अब सिर्फ उसी व्यक्ति को सजा होगी जो शराब पीते पकड़ा जाएगा.

शराबबंदी का नया कानून पारित होने के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा और कहा कि शराबबंदी के बावजूद लोग शराब की खेफ के साथ पकड़े जा रहे हैं. सरकार को चाहिए था कि उन फैक्ट्रियों पर कार्रवाई करती जहां से शराब की सप्लाई होती है.

तेजस्वी ने कहा, नए कानून में अमीरों को एकतरह से छूट मिली है. पहले जहां 50 हजार का जुर्माना लगता था, अब अमीर 5 हजार रुपए देकर आसानी से शराब पा लेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi