विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

महाबरसात से मुंबई की थम गई रफ्तार : 200 मिमी से ज्यादा बारिश से सब पानी-पानी

मुंबई में मंगलवार को 200 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है

FP Staff Updated On: Aug 30, 2017 08:31 AM IST

0
महाबरसात से मुंबई की थम गई रफ्तार : 200 मिमी से ज्यादा बारिश से सब पानी-पानी

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में मंगलवार को पानी-पानी हो गई. भारी बारिश से जगह-जगह जलभराव के चलते मुंबई की चाल थम सी गई है. मुंबई के अलावा नवी मुंबई और ठाणे में जबरदस्त बरसात से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है.

माना जा रहा है कि सुबह से हो रही बारिश 26 जुलाई, 2005 के बाद एक दिन में होने वाली सबसे अधिक बारिश है. मंगलवार को 200 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है.

मंगलवार को ही मुंबई में हाई टाईड आने की भी आशंका थी. इसे लेकर अलर्ट जारी किया गया था और मुंबईकरों को समंदर से दूर रहने के लिए कहा गया है. राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जोरदार बारिश से पैदा हुई स्थिति की समीक्षा करने के बाद निर्देश जारी किए हैं. फड़णवीस ने लोगों से जरूरी होने पर ही अपने-अपने घरों से बाहर निकलने की अपील की है. साथ ही लोगों से ट्रैफिक एडवाइजरी का पालन करने की भी अपील की है. जरूरत पड़ने पर मुंबई पुलिस को कॉल, ट्वीट कर अपनी लोकेशन की जानकारी दें.

बीएमसी ने बारिश में फंसे लोगों को इमरजेंसी नंबर 1916 डायल करने के लिए कहा है. अगर लोग इस पर मदद नहीं ले पा रहे हैं तो 100 नंबर डायल कर के भी हेल्प ली जा सकती है. बीएमसी ने अपने सारे कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर सबको काम पर वापस बुलाया. बीएमसी के मुताबिक मंगलवार को मुंबई में 200 पेड़ गिरे और 70 शॉर्ट सर्किट की घटनाएं हुई.

फिल्म स्टार अमिताभ बच्चन के घर जलसा के बाहर भी जोरदार बारिश के चलते जल भराव हो गया है. उनके घर के सामने वाली सड़क पर गाड़ियों को गुजरने में दिक्कतें आ रही हैं. शाहरुख खान के सांता क्रूज स्थित ऑफिस रेड चिलीज एंटरटेनमेंट के बाहर भी सड़कों पर पानी भर गया है. वहां भी रोड पर ट्रैफिक को आने-जाने में परेशानी हो रही है.

महाराष्ट्र सरकार ने खराब मौसम और भारी बरसात को देखते हुए मुंबई के स्कूलों और कॉलेजों को बुधवार तक के लिए बंद घोषित कर दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से बरसात से पैदा हुए हालात को लेकर बात की और उन्हें पूरी मदद का भरोसा दिया.

भारी बारिश से सड़कों से लेकर ट्रेनों की आवाजाही तक पर असर पड़ा है. मुंबई की लाइफलाइन माने जानी वाली लोकल ट्रेनों के ट्रैक पानी में पूरी तरह से डूब गए हैं. मुंबई की तीनों रेलवे लाइनों सेंट्रल, हार्बर और वेस्टर्न पर लोकल ट्रेन रुक गईं. यहां आने-जाने वाली ट्रेनें सुबह से ही देरी से चल रही थीं.

बरसात के चलते 11 ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया जबकि 7 ट्रेनों को रद्द करना पड़ा.

सड़कों पर पानी भर जाने से शहर के कई हिस्सों में ट्रैफिक का लंबा जाम लग गया. हजारों लोग सड़कों पर जहां-तहां फंसे रहे. बांद्रा वर्ली सी-लिंक पर भी आवाजाही ठप हो गई. बांद्रा, सांता क्रूज और अंधेरी के कई इलाकों में इस वजह से बिजली कटने की भी खबरें आईं.

सड़कों पर जगह-जगह पानी में डूबी गाड़ियों के नजारे आम दिख रहे थे.

मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से उड़ानों पर भी असर पड़ा. भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण विजिबिलिटी काफी कम हो गई जिसकी वजह से 10 उड़ानें रद्द कर दी गईं और 7 के रूट में बदलाव किया गया. हालांकि, 2 घंटे के बाद एयरपोर्ट से उड़ानों की आवाजाही दोबारा से शुरू हो गई.

मुंबई पुलिस ने लोगों से कहा है कि अगर उनकी गाड़ी के टायर तक के लेवल तक पानी भर गया हो तो वो अपने वाहनों को छोड़कर घर जाने के लिए कोई और विकल्प देखें. ये सुरक्षा एडवाइजरी एहतियातन जारी की गई है.

बारिश और बाढ़ को देखते हुए नेवी को अलर्ट कर दिया गया है. समंदर में निगरानी के लिए हेलीकॉप्टर तैयार रखा गया है. साथ ही लाइफ बोट्स को पानी में उतारा गया है.

मुंबई के अलग-अलग इलाकों में अब तक कितनी बारिश रिकॉर्ड की गई...

अंधेरी – 270 मिमी/ 92 मिमी

बीकेसी – 204 मिमी/ 54 मिमी

बांद्रा वेस्ट – 247 मिमी/ 52 मिमी

भांडुप – 251 मिमी/ 58 मिमी

चेंबूर – 214 मिमी/ 62 मिमी

कफ परेड – 123 मिमी/ 10 मिमी

दहिसर – 190 मिमी/ 40 मिमी

घाटकोपर ईस्ट – 221 मिमी/ 61 मिमी

गोरेगांव – 193 मिमी/ 65 मिमी

परेल – 285 मिमी/ 40 मिमी

कुर्ला – 300 मिमी/ 92 मिमी

मौसम विज्ञान केंद्र कोलाबा ने अगले 24 घंटे तक लगातार बारिश होने की भविष्यवाणी की है. मौसम विभाग द्वारा पूरे महाराष्ट्र में बारिश की चेतावनी जारी की गई है. महाराष्ट्र के अलावा गुजरात, मध्य प्रदेश और कोंकण में भी भारी बरसात हो रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi