S M L

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बयान का आतंकी संगठन LeT ने किया समर्थन

लश्कर ने एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि शुरू से हमारी राय वही रही है जो गुलाम नबी आजाद की है

Updated On: Jun 22, 2018 09:39 AM IST

FP Staff

0
कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बयान का आतंकी संगठन LeT ने किया समर्थन

पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के उस बयान का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार की 'बाहुबल' वाली नीति आम लोगों के खिलाफ काम कर रही है क्योंकि 4 आतंकियों को मारने के चक्कर में 20 नागरिक मारे जा रहे हैं.

न्यूज18 को अभी हाल में दिए एक इंटरव्यू में आजाद ने कहा था, 'वे (सेना) 4 आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करते हैं और इसमें 20 नागरिक मारे जाते हैं. उनकी कार्रवाई नागरिकों के खिलाफ ज्यादा है और आतंकियों के खिलाफ कम. जैसा कि उदाहरण है, पुलवामा में 13 नागरिक मारे गए और सिर्फ एक आतंकी.'

आतंकी संगठन लश्कर के प्रवक्ता मोहम्मद शाह ने कहा कि कश्मीर में राज्यपाल शासन में हजारों लोगों का नरसंहार होगा. शाह ने एक प्रेस रिलीज में कहा, शुरू से ही हमारी राय वही है जो गुलाम नबी आजाद की रही है. हिंदुस्तान कश्मीर में राज्यपाल शासन लगाकर दोबारा जगमोहन युग की शुरुआत करना चाहता है और निर्दोषों का कत्लेआम करना चाहता है.

लश्कर के प्रेस रिलीज में कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर में 8 लाख सेना की फौज लोगों पर जुल्म ढा रही है. वहां की अवाम को सेना कुचल रही है लेकिन अवाम ने ऑपरेशन ऑल-आउट को भी नाकाम कर दिया. सीजफायर महज ड्रामा बनकर रह गया. सीजफायर का अमन-चैन से कोई मतलब नहीं था, बल्कि इसमें लोगों को निशाना बनाया गया.

रिलीज में लश्कर के प्रवक्ता शाह ने कहा, कश्मीर में आजादी की लड़ाई को कुचलने में नाकाम रहा हिंदुस्तान हताश हो गया है. शुजात बुखारी की हत्या ने सेना की गंदी साजिश का पर्दाफाश कर दिया. हिंदुस्तान समर्थक कुछ नेता कश्मीर में जंगी अपराध की बात तो करते हैं लेकिन अपने स्वार्थी सियासी एजेंडे के लिए. उनका एजेंडा कश्मीर की अवाम को कहां तक गुलामी में धकेल रहा है यह जगजाहिर है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi