S M L

सेना में आने से पहले नजीर अहमद टेररिस्ट मूवमेंट का हिस्सा थे: स्मृति ईरानी

स्मृति ईरानी ने कहा कि भारत के खिलाफ हथियार उठाने वाले एक व्यक्ति ने आत्मसमर्पण कर दिया, क्योंकि वह भारत में विश्वास करता था, और फिर भारत के उस विचार के लिए लड़ने गया.'

Updated On: Jan 26, 2019 08:34 PM IST

FP Staff

0
सेना में आने से पहले नजीर अहमद टेररिस्ट मूवमेंट का हिस्सा थे: स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि लांस नायक नजीर अहमद वानी ने 2004 में भारती सेना जॉइन की थी, 2007 और 2018 में उन्हें सेना मेडल से सम्मानित किया गया था. मरणोपरांत, उन्हें अशोक चक्र से सम्मानित किया गया. इसमें सबसे खास उनकी भारतीय सेना जॉइन करने से पहले की यात्रा है. वह टेररिस्ट मूवमेंट का हिस्सा थे.

आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत के खिलाफ हथियार उठाने वाले एक व्यक्ति ने आत्मसमर्पण कर दिया, क्योंकि वह भारत में विश्वास करता था, और फिर भारत के उस विचार के लिए लड़ने गया. हम जैसे लोगों के लिए विश्वास के बारे में बात करना बहुत आसान है, यह बिल्कुल अलग है जब आप उस विश्वास के लिए अपना जीवन लगा रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi