S M L

लालू यादव के एक और दामाद का ईडी के पास खुलने जा रहा है बही-खाता!

लालू की सांसद बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के बाद राहुल यादव उनके दूसरे दामाद हैं जिनको ईडी ने समन जारी किया है

Updated On: Jan 16, 2018 04:40 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
लालू यादव के एक और दामाद का ईडी के पास खुलने जा रहा है बही-खाता!

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और चारा घोटाला मामले में जेल में बंद लालू यादव और उनके परिवार के लिए मुसीबतें कम होने के बजाए बढ़ती ही जा रही हैं. लालू यादव और परिवार के अन्य सदस्यों पर 2017 में शुरु हुआ राहु काल का असर नए साल की शुरुआत में भी दिखाई देने लगा है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने लालू यादव के दूसरे दामाद को समन जारी कर पेश होने को कहा है.

लालू के बड़े दामाद और राज्यसभा सांसद मीसा भारती के पति शैलेश कुमार के बाद अब लालू यादव के दूसरे दामाद राहुल यादव पर भी ईडी का शिकंजा कसना शुरु हो गया है. ईडी ने राहुल यादव को समन जारी कर एक सप्ताह के अंदर पेश होने का निर्देश दिया है. राहुल यादव पर आरोप है कि उन्होंने अपनी सास राबड़ी देवी को एक करोड़ रुपए का लोन दिया, जिसमें नियमों का ठीक से पालन नहीं किया गया.

शैलेश कुमार के बाद राहुल यादव दूसरे दामाद जिनको ईडी ने समन जारी किया 

राहुल यादव उत्तर प्रदेश के पूर्व समाजवादी पार्टी एमएलसी जितेंद्र यादव के बेटे और लालू यादव की बेटी रागिनी के पति हैं. रागिनी और राहुल यादव की शादी वर्ष 2012 में हुई थी. लालू यादव की सांसद बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के बाद राहुल यादव परिवार के दूसरे दामाद हैं जिनको ईडी ने समन जारी किया है.

पिछले साल ही आयकर विभाग ने आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और उनके करीबियों के 22 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इस छापेमारी में लालू के परिवार की कई बेनामी संपत्तियों का पता चला था.

Ranchi: Bihar's former chief minister Lalu Yadav being produced at the special CBI court to receive his quantum of sentence in a fodder scam case, in Ranchi on Wednesday. PTI Photo(PTI1_3_2018_000043B)

चारा घोटाला के एक मामले में दोषी साबित होने के बाद लालू यादव इन दिनों रांची जेल में बंद हैं

आयकर विभाग के छापे के बाद ईडी ने लालू यादव की कई बेनामी संपत्तियां जब्त कर ली थीं. जब्त की गई संपत्ति लालू की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, बड़ी बेटी मीसा भारती, मीसा के पति शैलेश कुमार, बेटे तेजस्वी यादव के अलावा दो और बेटियां चंदा यादव और रागिनी यादव की हैं.

ईडी द्वारा जब्त संपत्तियों का बाजार मूल्य करीब 200 करोड़ रुपए बताया गया है, जबकि सरकारी दस्तावेजों में इन संपत्तियों की कीमत महज 9 करोड़ 32 लाख दिखाई गई है.

ईडी के पास इस एक करोड़ रुपए के लेन-देन का पूरा सच पहले से है मौजूद 

ईडी राहुल यादव के द्वारा राबड़ी देवी को एक करोड़ रुपए का लोन देने का मामला दर्ज कर रखा है. ईडी सूत्रों से पता चला है कि ईडी के पास इस एक करोड़ रुपए के लेन-देन का पूरा सच पहले से ही मौजूद है. ईडी सूत्रों का कहना है कि ऐसी कोई लेन-देन नहीं हुई थी. सिर्फ कागजी तौर पर काले धन को सफेद किया गया था. यह लेन-देन सिर्फ कागजी तौर पर दिखाया गया था. ईडी राहुल यादव से पूछताछ कर यह जानना चाहती है कि इस एक करोड़ रुपए का सोर्स क्या है?

लालू यादव अपने कुनबे के साथ

लालू यादव अपने कुनबे के साथ

गौरतलब है कि साल 2010-11 और 2013-14 में डिलाइट मार्केटिंग के पूरे शेयर राबड़ी देवी के नाम ट्रांसफर किए गए थे. डिलाइट मार्केटिंग कंपनी आरजेडी के राज्यसभा सांसद प्रेमचंद्र गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की कंपनी थी, जिसे बाद में लालू यादव के परिवार को ट्रांसफर कर दिया गया था.

इसी कंपनी के द्वारा शेयर ट्रांसफर करने पर पिछले साल ईडी ने राबड़ी देवी और सरला गुप्ता से पूछताछ की थी. सरला गुप्ता रेलवे के होटल टेंडर घोटाला मामले में भी सवालों के घेरे में हैं. रेलवे टेंडर घोटाले में सीबीआई आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव से पूछताछ कर चुकी है. दोनों से पूछताछ पिछले साल दिल्ली के सीबीआई मुख्यालय में हुई थी.

सीबीआई को मिले दस्तावेज के मुताबिक, रेलवे के होटल लीज पर देने के नाम पर नियमों को ताक पर रखा गया था. लालू यादव उस वक्त रेल मंत्री थे. रेलवे को रांची और पुरी के होटल लीज पर देने को लेकर लालू यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटे तेजस्वी यादव के साथ झारखंड से राज्यसभा सांसद और पार्टी के नेता प्रेमचंद्र गुप्ता और उनकी पत्नी सरला गुप्ता को अभियुक्त बनाया गया है. साथ ही इस मामले में होटल लीज पर लेने वाले विनय कोचर, विजय कोचर और पी के गोयल को भी आरोपी बनाया गया है.

Patna: RJD chief Lalu Prasad with party leaders Raghuvansh Prasad Singh, Dy CM Tejashwi Yadav and others arrives to address supporters in Patna on Friday after his return from Ranchi. PTI Photo (PTI7_7_2017_000241B)

लालू यादव और उनके परिवार के कई सदस्यों पर रेलवे होटल टेंडर घोटाला समेत भ्रष्टाचार के अलग-अलग मामले दर्ज हैं

लालू परिवार को 32 करोड़ की जमीन महज 65 लाख रुपए में दी गई

सीबीआई को होटल लीज मामले में भी कई गड़बड़ियां मिली हैं. होटल लीज पर लेने के बदले जमीन ली गई. पटना के बेली रोड स्थित प्राइम लोकेशन पर 3 एकड़ जमीन लालू परिवार को दिया गया. इस जमीन की कीमत उस वक्त करोड़ों में आंकी जा रही थी. 32 करोड़ की जमीन महज 65 लाख रुपए में दी गई. इसी जमीन पर तेजस्वी यादव मॉल का निर्माण करा रहे थे. जिसे बाद में रुकवा दिया गया था.

पटना के बेली रोड पर तीन एकड़ की जमीन कोचर बंधुओं की थी. कोचर बंधुओं ने यह जमीन पहले प्रेमचंद्र गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की कंपनी के नाम ट्रांसफर किया.

सरला गुप्ता की कंपनी ने यह जमीन लालू परिवार की कंपनी डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम कर दिया. बाद में डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड का नाम बदल कर लारा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड कर दिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi