S M L

पत्रकार के गाल थपाथपाने वाले तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित पहले से भी विवादों में

इससे पहले भी बनवारीलाल के विवादास्पद बयान देश की राजनीति में बवाल पैदा कर चुके हैं

FP Staff Updated On: Apr 18, 2018 03:01 PM IST

0
पत्रकार के गाल थपाथपाने वाले तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित पहले से भी विवादों में

तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित इस वक्त विवादों में फंसे हुए हैं. हाल ही में कॉलेज सेक्स स्कैंडल केस में वायरल हुई ऑडियो क्लिप में उनका नाम सामने आने से बवाल शुरू हो गया है. इस मुद्दे पर सफाई देने के लिए मंगलवार को पुरोहित ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी. मगर इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में दूसरा बवाल खड़ा हो गया. उन्होंने एक पत्रकार के गाल थपथपा दिए जिसके बाद उस पत्रकार समेत विपक्ष ने भी उन पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. लेकिन ये कोई पहला मौका नहीं है जब पुरोहित विवादों में आए हों. इससे पहले भी इनके विवादास्पद बयान देश की राजनीति में बवाल पैदा कर चुके हैं.

कौन हैं बनवारी लाल पुरोहित

बनवारी लाल पुरोहित का जन्म 16 अप्रैल 1940 को राजस्थान में हुआ. 1977 में राजनीति में कदम रखने के बाद उन्होंने तीन बार बीजेपी की टिकट पर नागपुर लोकसभा चुनाव जीता. 1996 में उन्होंने अपना नागपुर लोकसभा सीट से आखरी चुनाव जीता. इसके बाद 1999 में उन्होंने बीजेपी से नाता तोड़ लिया और कांग्रेस में शामिल हो गए. मगर इसके कुछ समय बाद वो कांग्रेस से भी बाहर हो गए. इसके बाद उन्होंने खुद की पार्टी बनाई और और उसका विदर्भ राज्य पार्टी रखा. मगर इस बार भी उनकी किस्मत ने साथ नहीं दिया और पार्टी नहीं चल पाई. इसके बाद वो 2009 में दोबारा बीजेपी से जुड़े. उन्होंने इस दौरान नागपुर से फिर से चुनाव लड़ा मगर कांग्रेस उनम्मीदवार से  हार गए.

इसेक बाद वह 17 अगस्त 2016 को असम के राज्यपाल चुने गए थे. वहां एक साल रहने के बाद उन्हें 30 सितंबर 2017 को तमिलनाडु का राज्यपाल बना दिया गया.

विवादों से पुराना नाता

2007 में पुरोहित ने ये कह कर तहलका मचा दिया था कि आरएसएस चीफ औऱ तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बीच एक घंटे की गुप्त मुलाकात हुई थी. जिसमें ये समझौता हुआ था कि अगर आरएसएस 1989 के चुनाव में कांग्रेस का साथ देती है तो अयोध्या राम मंदिर निर्माण में कांग्रेस उनका साथ देगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi