S M L

राम रहीम: अभी इन मामलों पर फैसला आना बाकी है

गुरमीत राम रहीम सिंह को 10 साल की सजा सुनाई गई है. लेकिन इसके बाद राम रहीम की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली हैं.

Updated On: Aug 28, 2017 04:06 PM IST

FP Staff

0
राम रहीम: अभी इन मामलों पर फैसला आना बाकी है

15 साल पुराने रेप केस में सीबीआई कोर्ट का फैसला आ चुका है. गुरमीत राम रहीम सिंह को 10 साल की सजा सुनाई गई है. लेकिन इसके बाद राम रहीम की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली हैं. राम रहीम पर अभी और भी कई मामले चल रहे हैं, जिसमें कोर्ट का फैसला आना बाकी है.

डेरा सच्चा सौदा और उसके प्रमुख गुरमीत राम रहीम से जुड़े विवाद जो कोर्ट में चल रहे हैं जिसपर फैसला आना अभी बाकी है, वो इस इस प्रकार से हैं.

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या का मामला

सिरसा के सांध्य दैनिक के संपादक रामचंद्र छत्रपति पर 24 अक्टूबर 2002 को कातिलाना हमले का आरोप है. छत्रपति को घर से बुलाकर पांच गोलियां मारी गई थीं. साध्वी से यौन शोषण और रणजीत की हत्या पर खबर प्रकाशित करने के कारण हमला हुआ था. 21 नवंबर 2002 को छत्रपति की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी. ये केस भी कोर्ट में चल रहा है.

डेरे के पूर्व मैनेजर के लापता होने का मामला

डेरे के पूर्व मैनेजर फकीर चंद 1991 में गायब हो गए थे, हाई कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाया गया कि फकीर चंद को डेरा प्रमुख ने गायब कराया. यह मामला भी सीबीआई के पास जांच के लिए आया था.

400 साधुओं को नपुंसक बनाने का मामला

400 साधुओं को नपुंसक बनाने के मामले में भी सीबीआई कोर्ट में जांच चल रही है. डेरा प्रमुख पर आरोप है कि साधुओं को ईश्वर से मिलाने के नाम पर उन्हें नंपुसक बनाया गया.

धार्मिक भावना आहत करने के आरोप

पंजाब पुलिस ने डेरा प्रमुख के खिलाफ धार्मिक भावना आहत करने के आरोप में बठिंडा में मामला दर्ज किया था. खालसा दीवान और श्रीगुरु सभा बठिंडा के अध्यक्ष राजिंदर सिंह सिद्धू की शिकायत पर केस दर्ज हुआ था.

सिखों के साथ संघर्ष

एक विज्ञापन में गुरमीत राम रहीम ने दसवें सिख गुरु गोविंद सिंह की पोशाक पहनकर विवाद खड़ा कर दिया था. विवाद बढ़ता देख राम रहीम ने सर्वोच्च सिख बॉडी अकाल तख्त से माफी मांगी थी. इस मामले में 2009 में सिरसा और 2014 में बठिंडा कोर्ट में केस दर्ज किया गया था. हालांकि बाद में कोर्ट ने इस केस को खारिज कर दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi