विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

किशोरी अमोनकर का निधन भारतीय संगीत के लिए अपूरणीय क्षति: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि किशोरी अमोनकर के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं

Bhasha Updated On: Apr 05, 2017 07:00 PM IST

0
किशोरी अमोनकर का निधन भारतीय संगीत के लिए अपूरणीय क्षति: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायिका किशोरी अमोनकर के निधन पर शोक जताया है. राष्ट्रपति ने किशोरी अमोनकर को याद करते हुए कहा कि, 'यह भारतीय संगीत की दुनिया के लिए अपूरणीय क्षति है.'

किशोरी के बेटे बिभास अमोनकर को भेजे अपने शोक संदेश में राष्ट्रपति से कहा, ‘मैं आपकी मां श्रीमती किशोरी अमोनकर के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं. श्रीमती अमोनकर ने दशकों तक अपनी भावपूर्ण गायिकी से संगीत प्रेमियों को सम्मोहित किया.’

उन्होंने कहा, ‘उनका दुखद निधन भारतीय संगीत की दुनिया के लिए अपूरणीय क्षति है.’ प्रणब मुखर्जी ने भारतीय शास्त्रीय संगीत को उनके ‘अथक’ योगदान को रेखांकित किया जिसके लिए उन्हें वर्ष 1987 में पदम भूषण और 2002 में पदम विभूषण सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था.

उन्होंने मंगलवार को अपने संदेश में कहा, ‘कृपया मेरी सांत्वना स्वीकार करें. मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वह आपको तथा आपके परिवार के सभी सदस्यों को इस अपूरणीय क्षति को सहने की शक्ति दे.’

किशोरी अमोनकर का जन्म 10 अप्रैल 1932 को मुंबई में हुआ था. वो हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत की दिग्गज गायिकाओं में शुमार थीं. किशोरी ने ख्याल, ठुमरी और भजन को शास्त्रीय संगीत से रंगा है. उन्होंने अपनी मां मोघूबाई कुर्दिकर से संगीत की शिक्षा ली थी. कुर्दिकर भी एक मशहूर गायिका थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi