S M L
  • होम
  • वीडियो
  • काम, पहचान और राजनीति: क्यों बुंदेलखंड के दलितों को छोड़ना पड़ रहा है चमड़ा छिलाई का काम?

काम, पहचान और राजनीति: क्यों बुंदेलखंड के दलितों को छोड़ना पड़ रहा है चमड़ा छिलाई का काम?

Published On: Apr 14, 2018 05:22 PM IST
Updated On: Apr 18, 2018 01:38 PM IST
  • बुंदेलखंड के चित्रकुट जिले के मऊ ब्लॉक में बरगढ़, मनका और तुर्गवा गांव में दलित समुदाय के 70 प्रतिशत लोग चमड़ा छिलाई के काम में लगे थे लेकिन छूआछूत और भेदभाव के कारण इस पेशे में अब सिर्फ 5 प्रतिशत लोग र​ह गए हैं. Khabar Lahariya की पूरी खबर पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: https://bit.ly/2qIRRDJ फ़र्स्टपोस्ट के लिए दलितों की पहचान को लेकर ग्रामीण अखबार खबर लहरिया उत्तर प्रदेश में वीडियो रिपोर्ट्स की विशेष सीरीज 'काम, पहचान और राजनीति' कर रहा है. ये वीडियो सीरीज समाज की पिछड़ी जातियों के लोगों से उनकी संस्कृति और रहन-सहन को लेकर साक्षात्कार पर आधारित होगी.

ट्रेंडिंग

और भी
Firstpost Hindi