S M L

केरल के कॉलेज का अजीब फरमान: लड़कियां कपड़े बदलते वक्त भी दरवाजा बंद न करें

कॉलेज की प्रिंसिपल ने इस आदेश के पीछे अजीबोगरीब तर्क दिया है

Updated On: Mar 08, 2017 12:22 PM IST

FP Staff

0
केरल के कॉलेज का अजीब फरमान: लड़कियां कपड़े बदलते वक्त भी दरवाजा बंद न करें

केरल के एक नर्सिंग कॉलेज ने हॉस्टल की लड़कियों के लिए अजीबोगरीब फरमान जारी किया है. कॉलेज की प्रिंसिपल की तरफ से आदेश आया है कि लड़कियां अपने रूम के दरवाजे बंद न करें, उस वक्त भी नहीं जब वो कपड़े बदल रही हों.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक इस नर्सिंग कॉलेज की प्रिंसिपल ने अपने इस आदेश के पीछे हैरान करने वाला तर्क दिया है. कॉलेज की प्रिंसिपल का कहना है कि लड़कियों के कमरे के दरवाजे बंद होने की वजह से होमोसेक्सुअलिटी की प्रवृत्ति बढ़ती है.

इस से पहले भी कॉलेज हॉस्टल की लड़कियों पर कई तरह की पाबंदी वाले आदेश जारी कर चुका है. कॉलेज प्रशासन का कहना है कि छात्राओं को शाम में बाहर निकलने पर रोक लगनी चाहिए, उन्हें कपड़े ढंग के पहनने चाहिए और अब कमरे का दरवाजा भी बंद नहीं करना है.

इस आदेश के खिलाफ नर्सिंग कॉलेज में पिछले शुक्रवार से छात्राएं धरने पर बैठी हैं. छात्राएं कॉलेज के प्रिंसिपल के इस्तीफे की मांग कर रही हैं.

इस बारे में कॉलेज प्रिंसिपल एमपी. जेस्सीकट्टी का कहना है कि हॉस्टल में लडकियां मोबाइल फोन पर छुप कर बात करती हैं और इससे आपस में 'होमोसेक्सुअलिटी' जैसी चीजें भी बढ़ सकती हैं.

इसके बाद वहां की छात्राओं ने प्रोटेस्ट शुरू किया है. कॉलेज प्रशासन ने बिना उनका जवाब दिए कॉलेज में वीकेंड ऑफ कर दिया है.

द न्यूज मिनट से की गई बातचीत में कॉलेज के फोर्थ इयर की छात्रा वीणा वी. एस. ने बताया कि, 'हमें कहा गया है, जब हम कपड़े बदलें तो कमरे का दरवाजा बंद नहीं करें. अगर कपड़े बदलने हैं तो दरवाजे पर एक कुर्सी की आड़ लगा सकते हैं. इसलिए कि हम मोबाइल फोन पर बात करते हैं, इसलिए कि हम होमोसेक्सुअल हैं.'

वहां की छत्राओं का आरोप है, इससे पहले भी प्रिंसिपल ने कॉलेज में जातिवाद जैसे मुद्दों को बढ़ावा दिया है. छात्राओं ने बताया, प्रिंसिपल वहां की लड़कियों की पर्सनल डायरी चेक करती हैं और इसे पूरे क्लास के सामने जोर-जोर से पढ़ती भी हैं.

कॉलेज में मोबाइल फोन बैन है. कॉलेज की लाइब्रेरी में इंटरनेट की सुविधा नहीं दी गई है. इस पर भी वैसा ही दिलचस्प तर्क दिया गया है कि, इंटरनेट मिलेगा तो लड़कियां सिर्फ पोर्न देखेंगी.

यह नर्सिंग कॉलेज को उपासना चैरीटेबल सोसायटी के द्वारा चलाया जाता है, जो एक अरबपति बिजनेसमैन रवि पिल्लई का है. इस प्रोटेस्ट को अभी तक कॉलेज के तरफ से अनदेखा किया जा जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi