S M L

लड़की को गले लगाने पर निकाला था स्कूल ने, 12 वीं में मिले 91% अंक

स्कूल के एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में इस छात्र ने अपने साथ पढ़ने वाली एक लड़की को गले लगा लिया था. इसी से नाराज स्कूल प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए छात्र को स्कूल से निकाल दिया था

FP Staff Updated On: May 26, 2018 10:42 PM IST

0
लड़की को गले लगाने पर निकाला था स्कूल ने, 12 वीं में मिले 91% अंक

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 12वीं के नतीजे शनिवार को जारी किए गए. नतीजों में केरल के एक ऐसे लड़के ने अपने प्रदर्शन से सबको चौंका दिया है जिसे स्कूल ने निष्कासित कर दिया था. छात्र को कुल 91.02 प्रतिशत मार्क्स प्राप्त हुए हैं. दरअसल, स्कूल के एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में इस छात्र ने अपने साथ पढ़ने वाली एक लड़की को गले लगा लिया था. इसी से नाराज स्कूल प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए छात्र को स्कूल से निकाल दिया था.

तिरुवनंतपुरम के मुक्कोलक्कल के सेंट थॉमस सेंट्रल स्कूल के 12वीं कॉमर्स के छात्र को कथित तौर पर स्कूल प्रशासन के मोरल पुलिसिंग का शिकार होना पड़ा था. मानसिक दबाव को झेलते हुए और 4 महीने क्लास अटेंड नहीं करने के बाद भी छात्र ने हार नहीं मानी और बोर्ड परीक्षा में 90 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल कर लिया.

स्कूल के सांस्कृतिक कार्यक्रम में एक लड़की के परफॉर्मेंस पर उसकी सराहना करने पहुंचे इस छात्र ने लड़की को गले लगा लिया था. स्कूल प्रबंधन ने इसे गलत पाया और दोनों को निकाल दिया. स्कूल के इस कृत्य की चौतरफा आलोचना हुई थी.

न्यूज-18 की खबर के मुताबिक, बाद में कांग्रेस नेता और स्थानीय सांसद शशि थरूर के दखल के बाद स्कूल प्रशासन ने दोनों के निलंबन को वापस ले लिया था और परीक्षा देने की अनुमति दी थी.

छात्र और छात्रा कहते रहे कि हग केवल बधाई देने के लिए था और दोस्ताना भी, लेकिन स्कूल प्रशासन ने कहा था कि यह अनुशासन के खिलाफ था और काफी लंबा था.

जब यह मामला मीडिया में आया तब शशि थरूर ने इसमें दखल दी. थरूर ने स्कूल प्रशासन और छात्रों के पैरेंट्स के साथ कई मीटिंग्स की. इसका नतीजा हुआ कि छात्र परीक्षा देने में कामयाब रहा.

(तस्वीर: प्रतीकात्मक)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi