S M L

केरल सरकार ने बाढ़ के लिए तमिलनाडु को जिम्मेदार ठहराया

सुप्रीम कोर्ट में दिए अपने एफिडेफिट में पिनरई विजयन सरकार ने कहा कि मुल्लापेरियर बांध से अचानक पानी छोड़ना ही इन मौतों का मुख्य कारण है

Updated On: Aug 23, 2018 05:54 PM IST

FP Staff

0
केरल सरकार ने बाढ़ के लिए तमिलनाडु को जिम्मेदार ठहराया

केरल ने बाढ़ के चलते आई तबाही में 373 लोगों की मौत हो चुकी है. इन मौतों के लिए केरल ने तमिलनाडु सरकार को मुल्लापेरियार बांध में पानी के स्तर को कम करने इनकार को जिम्मेदार ठहराया है.

सुप्रीम कोर्ट में दिए अपने एफिडेफिट में पिनरई विजयन सरकार ने कहा कि मुल्लापेरियर बांध से अचानक पानी छोड़ना ही इन मौतों का मुख्य कारण है.

इसके साथ सरकार ने बताया कि तमिलनाडु सरकार ने उसकी गुजारिश को इनकार कर दिया था. इसमें कहा गया था कि बांध के पानी का स्तर 142 से 139 फुट कर दिया जाए.

यह बांध केरल में स्थित है, लेकिन इसका जल स्तर पूरी तरह से तमिलनाडु से ऑपरेट किया जाता है और केरल लंबे समय से बांध के डी-कमीशन की मांग कर रहा है, जिससे सालों से लीक विकसित किए जा सकें.

केरल में बारिश में कमी और बाढ़ का पानी उतरने के बावजूद राज्य की मुसीबतें कम नहीं हुई हैं. बाढ़ और भूस्खलन से आठ अगस्त के बाद से राज्य में 230 लोगों की मौत हुई है.

राज्य में फिलहाल राहत शिविरों में रह रहे 13 लाख लोगों के सामने अनिश्चय की स्थिति है और उन्हें अपना भविष्य अंधकारमय नजर आ रहा है.कई घर अब भी जलमग्न हैं और जो नहीं है उनमें हर कुछ टूटा-फूटा और बिखरा हुआ पड़ा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi