S M L

सबरीमाला मंदिर मामला: CM की बैठक में शामिल नहीं होगें पांडलम पैलेस और पुजारियों के प्रतिनिधि

सीपीआई-एम और बीजेपी राज्य ईकाई सहित कई अन्य पार्टियों के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ विरोध जताने के बाद इस मामले पर बीच का रास्ता तलाशने के लिए केरल सरकार ने सोमवार को ये बैठक बुलाई है

Updated On: Oct 07, 2018 06:19 PM IST

FP Staff

0
सबरीमाला मंदिर मामला: CM की बैठक में शामिल नहीं होगें पांडलम पैलेस और पुजारियों के प्रतिनिधि

केरल के सबरीमाला मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर चर्चा करने के लिए सीएम पिनराई विजयन ने सोमवार को एक बैठक बुलाई है. पांडलम पैलेस और सबरीमाला मंदिर के पुजारी के प्रतिनिधियों का कहना है कि वो इस बैठक में शामिल नहीं होंगे, और इस मामले में ट्रस्ट कोर्ट के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा.

सीपीआई-एम और बीजेपी राज्य ईकाई सहित कई अन्य पार्टियों के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ विरोध जताने के बाद इस मामले पर बीच का रास्ता तलाशने के लिए केरल सरकार ने सोमवार को ये बैठक बुलाई है. बताया जा रहा है कि सीएम विजयन पिनराई और देवोसोम मंत्री के. सुरेंद्र इस बैठक में शामिल होंगे.

सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ तेज हुआ विरोध प्रदर्शन

वहीं दूसरी तरफ इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले और केरल सरकार के इसे लागू करने के फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है. रविवार को भगवान अयप्पा के भक्त बेंगलुरु में विरोध प्रदर्शन करते नजर आए.

वहीं दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी अयप्पा के भक्तों ने 'अयप्पा नम जप यात्रा' का आयोजन कर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ विरोध जताया.

इससे पहले शनिवार को भी केरल के कोट्टायम और मलप्पुरम जिलों में कई श्रद्धालुओं ने मार्च निकाला. इस मार्च में महिलाओं की संख्या ज्यादा थी. महिला श्रद्धालुओं ने शनिवार को करीब तीन घंटे तक विरोध मार्च निकाला.

इस दौरान पुलिस को ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए खासतौर पर मशक्कत करनी पड़ी. मंदिर के मुख्य पुजारियों के नेतृत्व में निकाले गए इस जुलूस में 17 संगठनों के कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया. मंदिर के पुजारी कंडारारू राजीवारारू ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सबरीमाला मंदिर की पवित्रता प्रभावित होगी, फैसले के पीछे उन्होंने किसी छिपे हुए शख्स की साजिश बताई. मंदिर के अन्य पुजारी मोहनारारू और महेश ने कहा कि प्रदर्शन का उद्देश्य सनातन धर्म की रक्षा करना था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi