S M L

कार खरीदने पर ‘धार्मिक सिद्धांतों के खिलाफ’ जीवन जीने के आरोप में नन को नोटिस

बलात्कार के एक मामले में जालंधर के एक पूर्व बिशप के खिलाफ प्रदर्शन में भाग लेने वाली, कार खरीदने वाली और कविताएं प्रकाशित कराने वाली केरल की एक नन को नोटिस भेजकर आरोप लगाया है कि धार्मिक सिद्धांतों के खिलाफ जीवन जी रही है

Updated On: Jan 09, 2019 04:57 PM IST

Bhasha

0
कार खरीदने पर ‘धार्मिक सिद्धांतों के खिलाफ’ जीवन जीने के आरोप में नन को नोटिस

बलात्कार के एक मामले में जालंधर के एक पूर्व बिशप के खिलाफ प्रदर्शन में भाग लेने वाली, कार खरीदने वाली और कविताएं प्रकाशित कराने वाली केरल की एक नन को नोटिस भेजकर आरोप लगाया गया है कि वह ‘धार्मिक सिद्धांतों के खिलाफ’ जीवन जी रही है. यह नोटिस अलुवा स्थित एक धार्मिक समूह ने भेजा है.

इस नोटिस में ‘फ्रांसिस्कन क्लेरिस्ट कांग्रेगेशन’ ने सिस्टर लूसी कलपुरा पर ‘धार्मिक जीवन के सिद्धांतों के खिलाफ’ जीवन जीने का आरोप लगाया. नन से बुधवार को सुबह 11 बजे सुपीरियर जनरल सिस्टर एन जोसफ के सामने पेशे होकर स्पष्टीकरण देने को कहा गया था.

यह पूछे जाने पर कि क्या सिस्टर लूसी 11 बजे पहुंच सकीं, एक नन ने कहा कि उन्हें वायानाड से आने में परेशानी हुई होगी क्योंकि श्रम संगठनों द्वारा आहूत राष्ट्रव्यापी हड़ताल के कारण वाहन सड़कों से नदारद हैं.

धार्मिक समूह ने नन के लाइसेंस लेने, कार खरीदने, इसके लिए ऋण लेने और अपने वरिष्ठों की अनुमति और जानकारी के बिना धन खर्च करके पुस्तक प्रकाशित करने को ‘गंभीर उल्लंघन’ करार दिया.

धार्मिक समूह ने नन के टीवी समाचार चैनलों पर चर्चाओं में भाग लेने तथा गैर-ईसाई समाचारपत्रों के लिए लेख लिखकर कैथोलिक नेतृत्व पर झूठे आरोप लगाने को ‘‘गंभीर मामला’’ करार दिया.

इसके अलावा, सिस्टर ने नन के बलात्कार के आरोपी बिशप फ्रांको मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ‘मिशनरीज ऑफ जीसस’ की पांच ननों के विरोध प्रदर्शन में भी भाग लिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi