S M L

सबरीमाला मंदिरः केरल सरकार बनाएगी 'महिला दीवार', बीजेपी का मास्टर प्लान

केरल हाई कोर्ट के आदेश के बावजूद बीजेपी ने आंदोलन के साथ आगे बढ़ने का फैसला किया है, कोर्ट का कहना है कि सबरीमाला में कोई विरोध प्रदर्शन नहीं होना चाहिए, कोर्ट का मानना है कि यह ऐसी गतिविधियों के लिए सही जगह नहीं है

Updated On: Dec 02, 2018 02:44 PM IST

FP Staff

0
सबरीमाला मंदिरः केरल सरकार बनाएगी 'महिला दीवार', बीजेपी का मास्टर प्लान

बीजेपी की केरल इकाई सोमवार से अपने सबरीमाला आंदोलन को तेज करने के लिए तैयारी शुरू कर चुकी है ऐसे में सत्तारूढ़ वाम सरकार ने राज्य सरकार का समर्थन हासिल करने के लिए 'महिला दीवार' बनाने की घोषणा की है. न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार इस बारे में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष पी एस श्रीधरन पिल्लई ने कहा कि उनकी पार्टी के नेता सचिवालय के सामने अनिश्चितकाल की भूख हड़ताल शुरू करेंगे. साथ ही विभिन्न मांगों को भी सामने रखेंगे जिनमें निषेध आदेश उठाने और भगवान अयप्पा मंदिर के आसपास तीर्थयात्रियों को बुनियादी सुविधाएं प्रदान करना शामिल होगा. उन्होंने कहा कि पार्टी 3 दिसंबर से सचिवालय के समक्ष अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू करेगी.

राज्य महासचिव ए एन राधाकृष्णन यह आंदोलन शुरू करेंगे

केरल हाई कोर्ट के आदेश के बावजूद बीजेपी ने आंदोलन के साथ आगे बढ़ने का फैसला किया है. कोर्ट का कहना है कि सबरीमाला में कोई विरोध प्रदर्शन नहीं होना चाहिए. कोर्ट का मानना है कि यह ऐसी गतिविधियों के लिए सही जगह नहीं है. उन्होंने कोच्चि में पत्रकारों से कहा, वरिष्ठ नेता और राज्य महासचिव ए एन राधाकृष्णन यह आंदोलन शुरू करेंगे. उन्होंने कहा- फिलहाल हम 15 दिनों के आंदोलन की योजना बना रहे हैं. इसके बाद पार्टी सीपीआई (एम) द्वारा एलडीएफ सरकार की मांगों पर विचार करने के बाद आंदोलन के आगे के पाठ्यक्रम पर फैसला करेगी.

राज्य की राजधानी में 'महिला दीवार' का गठन किया जाएगा

इस बीच केरल सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने के लिए समर्थन हासिल करने की कोशिश कर रही है. भले ही कांग्रेस, बीजेपी और कई पार्टी इसके खिलाफ हों. वहीं मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा है कि राज्य सरकार के फैसले का समर्थन करने के लिए 1 जनवरी को कासरगोड के उत्तरी जिले से राज्य की राजधानी में 'महिला दीवार' का गठन किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा- 'महिला दीवार' का हैश टैग केरल को एक पागलखाने में नहीं बदलेगा. आज की बैठक में इन संगठनों ने सबरीमाला मुद्दे पर हमारे द्वारा उठाए गए कदमों पर राज्य सरकार को अपना समर्थन दिया है.

राजनीतिक दल अपनी महिला कैडर भी भेज सकते हैं

उन्होंने आगे कहा, राजनीतिक दल अपनी महिला कैडर भी भेज सकते हैं. राज्य के वित्त मंत्री टीएम थॉमस आईजैक ने लोगों से उनके प्रतिरोध में शामिल होने और 600 किलोमीटर लंबी मानव दीवार बनाने में मदद करने के लिए कहा. बीते शनिवार को विजयन द्वारा आयोजित बैठक में श्री नारायण धर्म परिपाल (एसएनडीपी) योगम के महासचिव वेल्लपल्ली नातेसन के नेतृत्व में हिंदू ईझावा सामाजिक समूह ने भाग लिया था जबकि हिंदू नायर सेवा सोसाइटी ने इस मामले में अपने विचार नहीं बदले. बता दें कि विजयन ने 150 से ज्यादा सामाजिक समूहों को आमंत्रित किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi