S M L

निपाह मरीजों की देखभाल करते हुए जान देने वाली नर्स के परिवार को मदद देगी सरकार

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया गया दिवंगत लिनी के पति को उनकी योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरी दी जाएगी. साथ ही मुख्यमंत्री राहत कोष से उनके 2 और 5 साल के बच्चों को भी 10-10 लाख रूपए दिए जाएंगे

Bhasha Updated On: May 24, 2018 01:58 PM IST

0
निपाह मरीजों की देखभाल करते हुए जान देने वाली नर्स के परिवार को मदद देगी सरकार

केरल सरकार निपाह वायरस संक्रमित मरीजों की देखभाल करते हुए अपनी जान गंवाने वाली नर्स लिनी पुतुसेरी के परिवार की मदद के लिए आगे आई है. दिवंगत लिनी के पति को सरकारी नौकरी दी जाएगी और उनके दोनों बच्चों के नाम 10-10 लाख रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की गई है.

बुधवार को मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में इस संबंध में फैसला लिया गया.

सरकारी बयान में बताया गया कि लिनी के पति सजीश को उनकी योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरी की पेशकश की जाएगी. इसके अलावा मुख्यमंत्री राहत कोष से उनके 2 और 5 साल के बच्चों को 10-10 लाख रूपए दिए जाएंगे.

लिनी के बच्चों के लिए जो राशि मंजूर की गई है उसमें से 5-5 लाख रुपए उनके बैंक अकाउंट में जमा किए जाएंगे और बाकी के 5-5 लाख रुपए इस तरह से जमा किए जाएंगे कि अभिभावक उससे प्राप्त होने वाले ब्याज का इस्तेमाल बच्चों की जरूरत के लिए कर सकेंगे.

सरकार ने निपाह वायरस संक्रमण के कारण जान गंवाने वाले अन्य 9 लोगों के परिजनों को भी 5-5 लाख रुपए देने का फैसला किया है.

मंगलवार को मुख्यमंत्री विजयन के कार्यालय ने ट्वीट कर लिनी की मौत पर गहरा अफसोस जताया था.

पेराम्ब्रा तालुका अस्पताल में काम करने वाली नर्स लिनी को यह संक्रमण शुरुआत के दिनों में अस्पताल में इलाज करवाने आए मरीजों से हो गया था. बहरीन में काम करने वाले लिनी के पति उसकी बीमारी के बारे में सुनने के बाद उसकी मौत से 2 दिन पहले पेराम्ब्रा आ गए थे.

फल खाने वाले चमगादड़ों से फैलने निपाह वायरस की वजह से केरल के कोझिकोड और मलप्पुरम जिले में 10 लोगों की मौत हो चुकी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi