S M L

झारखंड: केरलवासियों के दुख में गमजदा मलयाली नहीं मनाएंगे ओणम

जमशेदर स्थित ‘केरल समाजम’ संगठन ने केरल में आई बाढ़ को देखते हुए इस साल ओणम पर्व नहीं मनाने का निर्णय लिया है. इसके अलावा उन्होंने प्रभाविकों के लिए धन और राहत सामग्री इक्टठा करने के लिए अभियान शुरू किया है

Updated On: Aug 20, 2018 03:46 PM IST

Bhasha

0
झारखंड: केरलवासियों के दुख में गमजदा मलयाली नहीं मनाएंगे ओणम
Loading...

झारखंड के जमशेदपुर के एक मलयाली संगठन ने केरल में आई विनाशकारी बाढ़ के मद्देनजर इस साल ओणम समारोह नहीं मनाने का फैसला किया है. केरल में आई प्रलयंकारी बाढ़ के कारण अब तक 350 से ज्यादा लोग मारे गए हैं और 8 लाख से अधिक लोग बेघर हो गए हैं.

कृषि से जुड़ा यह वार्षिक त्योहार 15 अगस्त को शुरू हुआ था और यह 27 अगस्त को खत्म होगा.

संगठन के महासचिव सुनील कुमार ने बताया कि 3 हजार सदस्यों वाला ‘केरल समाजम’ संगठन हर साल भव्य तरीके से ओणम का आयोजन करता है लेकिन इस वर्ष कोई भी इस उत्सव के मूड में नहीं है. उन्होंने बताया कि संगठन के सदस्यों ने जमशेदपुर शहर और आसपास बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए धन और राहत सामग्री एकत्र करने के लिए एक सप्ताह का अभियान शुरू किया है.

उन्होंने कहा, ‘ओणम समुदाय का एक भव्य त्योहार है. हम इस अवधि के दौरान ‘रंगोली’ प्रतियोगिता सहित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं. हालांकि, इस साल हमने वार्षिक त्योहार नहीं मनाने का फैसला किया है क्योंकि केरल में हमारे भाई और बहन अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहे हैं.’

बता दें कि केरल में पिछले सौ साल से भी अधिक समय के दौरान सबसे भयंकर बाढ़ आई है. जिससे यहां जान और माल की भयानक बर्बादी और तबाही मची है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi