S M L

केरल बाढ़: विदेशी सहायता के लिए सरकार के दरवाजे खुले हैं- सूत्र

सरकार के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अभी भी किसी देश ने औपचारिक रूप से सहायता देने की पेशकश नहीं की है

Updated On: Aug 22, 2018 10:34 PM IST

FP Staff

0
केरल बाढ़: विदेशी सहायता के लिए सरकार के दरवाजे खुले हैं- सूत्र

केरल में आए विनाशकारी बाढ़ के बाद तमाम राज्यों और संस्थाओं ने मदद के लिए केरल सरकार को सहायता राशि दी. इसी दौरान खबर आई थी कि केरल को यूएई सरकार की तरफ से 700 करोड़ की सहायता राशि देने की घोषणा हुई है लेकिन केंद्र सरकार ने इसे लेने से इनकार कर दिया. अब सरकारी सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि इस प्राकृतिक आपदा से उबरने के लिए विदेशी सहायता को स्वीकार करने के लिए देश के दरवाजे खुले हुए हैं.

सरकार के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अभी भी किसी देश ने औपचारिक रूप से सहायता देने की पेशकश नहीं की है. सूत्रों ने कहा कि जो भी सहायता देंगे वह विभिन्न मानदंडों और प्रक्रियाओं के अधीन होगी.

बुधवार को दिन में थाइलैंड के राजदूत ने ट्वीट कर कहा था कि भारत ने यह साफ कर दिया है कि वह किसी भी तरह का अंतरराष्ट्रीय सहायता केरल बाढ़ के लिए नहीं लेगा. सूत्रों ने कहा था कि इसकी संभावना काफी कम है कि सरकार यूएई से मिल रहे 700 करोड़ रुपए की सहायता राशि को स्वीकार करेगी.

 

भारत सरकार का नया रुख नीतियों में बड़े बदलाव को दर्शाता है. साल 2004 के बाद से भारत ने किसी भी प्राकृतिक आपदा के समय कोई विदेशी सहायता स्वीकार नहीं की है. इसके ठीक उलट भारत सरकार ने जरूरत पड़ने पर अन्य देशों की सहायता की है. इस नीति को देश की बढ़ती अर्थव्यवस्था और आत्मनिर्भरता के तौर पर देखा जाता रहा है.

2004 के सुनामी के बाद, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि हमें लगता है कि हम खुद की स्थिति का सामना कर सकते हैं और यदि आवश्यक हो तो हम उनकी मदद अवश्य लेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi