S M L

केरल में विनाशकारी बाढ़ के बाद अब लोगों के लिए समस्या बने सांप

बाढ़ का पानी उतरने के बाद प्रभावित लोग जब अपने घरों को लौट रहे हैं तो वहां उन्हें पानी के साथ बह आए सांप मिल रहे हैं

Updated On: Aug 22, 2018 04:01 PM IST

FP Staff

0
केरल में विनाशकारी बाढ़ के बाद अब लोगों के लिए समस्या बने सांप

केरल में बाढ़ का पानी घटने के बाद लोग अब अपनी बेपटरी हुई जिंदगी को दोबारा संभालने में जुट गए हैं. मगर प्राकृतिक आपदा की मार झेलने वाले इन लोगों को नई तरह की मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. यह मुसीबत बाढ़ के पानी के साथ घरों में घुस आए सांपों की है.

जैसे-जैसे यहां से बाढ़ का पानी निकल रहा है ढेर सारे सांप भी बाहर आ रहे हैं. ऐसे में जो लोग घर लौट रहे हैं उनके लिए खतरा बढ़ गया है. इसे देखते हुए केरल में स्नेक बाइट एक्सपर्ट और सांप को बचाने वाले लोगों को बुलाया गया है. इसके अलावा लोग फोन कर और वाट्सऐप के जरिए भी सलाह दे रहे हैं.

पिछले 5 दिन में राज्य के अलग-अलग हिस्सों से सांप काटने की कई घटनाएं सामने आई हैं. अंगमाली के एक प्राइवेट अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि 15 से 20 अगस्त के दौरान डॉक्टरों के पास सांप काटने के 53 मामले सामने आए.

Kerala Snakes

(फोटो साभार: विवेक शर्मा, इंडियन स्नेक्स)

अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया कि नाग (कोबरा), करैत, रसल्स वाइपर समेत अन्य जहरीले सांप बाढ़ के पानी के साथ जंगल से बहकर आ गए हैं और उन्होंने खाली पड़े घरों में डेरा जमा लिया है. केवल पिछले दो दिन में ही केरल में लगभग 100 सांप पकड़े गए हैं. अपने घरों को साफ करने आए कई लोग वहां सांप देखकर भाग गए.

केरल सरकार के जनसंपर्क विभाग ने इस संबंध में सोशल मीडिया पर अभियान चलाया है. सरकार ने घोषणा की है कि प्रभावित स्थानों पर विष-रोधी दवा उपलब्ध करा दी गई है.

सांपों के लोगों के घरों में घुसने की लगातार आ रही हैं शिकायतें 

स्नेकबाइट हीलिंग एंड एजुकेशन सोसाइटी के संस्थापक प्रियंका कदम ने कहा, 'हमें बड़ी संख्या में फोन कॉल आ रहे हैं और हम लोगों को लगातार सलाह दे रहे हैं.'

साल 2011 की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में सबसे ज्यादा सांप काटने की घटनाएं भारत में होती हैं. यहां हर साल 50 हजार से भी ज्यादा लोगों की इस वजह से मौत हो जाती है. यह संख्या भारत में हेपेटाइटिस-बी की वजह से होने वाली मौतों की आधा संख्या है. इसके अलावा हजारों लोगों के शरीर के महत्वपूर्ण अंग बेकार हो जाते हैं और उन्हें जीवन भर के लिए दूसरों पर आश्रित होना पड़ता है.

(फोटो साभार: विवेक शर्मा, इंडियन स्नेक्स)

(फोटो साभार: विवेक शर्मा, इंडियन स्नेक्स)

भारत में सांपों की 300 से ज्यादा प्रजातियां पाई जाती हैं. इनमें से नाग (कोबरा), करैत, रसल्स वाइपर और सॉ स्केल्ड वाइपर ही इंसानों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक होते हैं.

(न्यूज़ 18 के लिए हृदयेश जोशी की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi