S M L

केरल बाढ़: केंद्र ने NDRF की 35 और टीमों को भेजने का निर्णय लिया

डीजी ने कहा कि केरल में पहले से ही 18 टीम मौजूद हैं जो युद्ध स्तर पर राहत और बचाव अभियान में लगी हुई है, एनडीआरएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि 23 अन्य टीम भेजी जा रही है

Updated On: Aug 16, 2018 08:59 PM IST

Bhasha

0
केरल बाढ़: केंद्र ने NDRF की 35 और टीमों को भेजने का निर्णय लिया

केंद्र ने बारिश से प्रभावित केरल में राहत और बचाव अभियान को तेज करने के लिए करीब एक हजार जवानों वाली एनडीआरएफ की 35 और टीमों को गुरुवार को भेजने का फैसला लिया.

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएससी) की शुक्रवार को दिन में हुई बैठक के बाद सरकार ने पहले 12 नई टीमों को भेजा था और इसके बाद अभियान को तेज करने के लिए 23 और टीमों को भेजने का निर्णय लिया.

एनडीआरएफ के महानिदेशक संजय कुमार ने कहा, ‘गुरुवार शाम तक पहली 12 टीम केरल पहुंच जाएंगी. बाकी 23 टीमों को भी भेजा जा रहा है. ये टीम दिन और रात दोनों में राहत और बचाव अभियान, चिकित्सा सहायता और खाद्य सामग्री के वितरण में राज्य सरकार के अधिकारियों की मदद करेगी.’ उन्होंने बताया कि गाजियाबाद से छह और गुजरात में वडोदरा से छह टीमों को भेजा गया था.

डीजी ने कहा, ‘केरल में पहले से ही 18 टीम मौजूद हैं जो युद्ध स्तर पर राहत और बचाव अभियान में लगी हुई है.’ एनडीआरएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि 23 अन्य टीम पटना (बिहार), हरिनघाता (पश्चिम बंगाल), मुंडाली (ओडिशा) और भठिंडा (पंजाब) से भेजी जा रही है.

एनडीआरएफ की टीमों ने कुल 707 लोगों को बचाया है

उन्होंने बताया कि अंतिम रिपोर्ट मिलने तक एनडीआरएफ की टीमों ने कुल 707 लोगों को बाहर निकाला है. इनमें पथनमथिट्टा से 172, एर्नाकुलम (151), कोझीकोड़ (99), अलापुझा (202) और त्रिशुर (83) है. प्रवक्ता ने बताया, ‘इन स्थानों पर लोगों को बाहर निकाले जाने का अभियान अभी चल रहा है.’

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में केरल में व्याप्त स्थिति का जायजा लिया गया. इस बैठक में तीनों सैन्य सेवाओं के प्रमुख, गृह, रक्षा सचिवों, एनसीएमसी के अधिकारी शामिल हुए.

उन्होंने बताया कि बैठक में सभी संबंधित लोगों को संकट से निपटने के लिए राज्य सरकार को मदद जारी रखने के निर्देश दिए गए. प्रधानमंत्री के निर्देश के बाद यह बैठक हुई. प्रवक्ता ने बताया कि केंद्र सरकार केरल को पूरी सहायता उपलब्ध करा रही है और राज्य में व्यापक राहत एवं बचाव अभियान शुरू किया गया है.

राज्य में मूसलाधार बारिश में कोई कमी नहीं आई है. केरल के पलक्कड़ जिले में भूस्खलन से गुरुवार को सुबह आठ लोगों की मौत हो गई. इसके साथ ही गत आठ अगस्त से मृतकों की संख्या बढ़कर 75 हो गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi