S M L

LIVE कठुआ रेप मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा पीड़िता के परिवार और वकील को सुरक्षा दे राज्य सरकार

चार्जशीट में कहा गया है कि बकरवाल समुदाय की लड़की का अपहरण, बलात्कार और हत्या एक सुनियोजित साजिश थी ताकि इस अल्पसंख्यक घुमंतू समुदाय को इलाके से हटाया जा सके

FP Staff | April 16, 2018, 04:57 PM IST

0

हाइलाइट

Apr 16, 2018

  • 16:11(IST)

    कठुआ रेप पीड़िता के परिवार के वकील ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को हमें सुरक्षा देने का निर्देश दिया है. 

  • 16:04(IST)
  • 16:03(IST)

    शालू निगम ने ऐसे वकीलों का लाइसेंस रद्द करने की मांग की है

  • 15:55(IST)

    विरोध कर रहे दिल्ली के वकीलों ने आरोपियों के पक्ष में रैली निकालने वाले जम्मू के वकीलों के ऊपर कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

  • 15:49(IST)

    दिल्ली में वकीलों ने जम्मू के उन वकीलों के खिलाफ आज सुप्रीम कोर्ट के सामने विरोध-प्रदर्शन भी किया, जिन्होंने आरोपियों के पक्ष में जम्मू में रैली निकाली थी.

  • 15:47(IST)

     पीड़िता के परिवार के तरफ से बोलते वकील इंदिरा जयसिंह ने जम्मू-कश्मीर पुलिस की तारीफ करते हुए कहा कि पुलिस ने अच्छा काम किया, न सिर्फ उसने सभी आरोपियों को पकड़ा बल्कि साइंटिफिक आधार पर सबूत भी जुटाए. 

  • 15:42(IST)

    पीड़िता के परिवार के तरफ से पैरवी करते हुए सुप्रीम कोर्ट की सीनियर वकील इंदिरा जयसिंह ने कहा कि निष्पक्ष जांच के लिए वहां का माहौल सही नहीं है. वहां पूरे ध्रुवीकरण का माहौल है. 

  • 15:32(IST)

    जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने अपने हड़ताल को स्थगित कर दिया है.

  • 15:31(IST)

    सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि राज्य सरकार जांच में किसी तरह का हस्तक्षेप न करे. सुप्रीम कोर्ट ने केस को चंडीगढ़ ट्रांसफर करने की मांग पर जम्मू-कश्मीर सरकार से जवाब मांगा है. 

  • 15:28(IST)

    सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता के वकील और उसके परिवार की याचिका पर सुनवाई करते हुए जम्मू-कश्मीर की सरकार से जवाब मांगा है. सुप्रीम कोर्ट में इस पर अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी. पीड़िता के परिवार और वकील ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके इस केस को जम्मू-कश्मीर से बाहर ट्रांसफर करने की मांग की है.

  • 15:23(IST)

    सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान जम्मू-कश्मीर सरकार को पीड़िता के परिवार और वकील को सुरक्षा देने का निर्देश दिया है.

  • 14:33(IST)

    कठुआ मामले में सेशन कोर्ट अब 28 अप्रैल को सुनवाई करेगी. सुप्रीम कोर्ट में थोड़ी ही देर में इस अपील पर सुनवाई होगी कि इस केस को जम्मू-कश्मीर के बाहर चंडीगढ़ में सुनवाई के लिए ट्रांसफर किया जाए. पीड़िता के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में इसे लेकर एक याचिका दायर की है.

  • 14:15(IST)

    कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि मैंने कहीं पढ़ा है कि 20 ऐसे नेता हैं भारतीय जनता पार्टी के जो बलात्कार से जुड़े हुए हैं. अब इनका नाम भारतीय जनता पार्टी होना चाहिए या भारतीय बलात्कार पार्टी, ये जनता को सोचना चाहिए

  • 13:27(IST)

    जम्मू बार की एक महिला वकील ने कहा, बलात्कारियों के पक्ष में नहीं है जम्मू बार एसोसिएशन. 
    महिला वकील कौर ने कहा, हम बलात्कारियों का पक्ष नहीं ले रहे. हम पीड़ितों के लिए इंसाफ मांग रहे हैं. न्याय दिलाने का काम सियासी फुटबॉल नहीं बन जाना चाहिए. 

  • 13:00(IST)

    इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, वकील दीपिका राजावत ने कहा है कि उन्हें यह केस लड़ने के कारण हिंदू विरोधी बोलकर धमकाया जा रहा है. 

    दीपिका ने कहा, मेरा बलात्कार हो सकता है, मुझे मारा जा सकता है. हो सकता है वे लोग मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस भी न करने दें. पता नहीं मैं कैसे जिंदा रह पाउंगी.

  • 12:35(IST)

    जनहित याचिका में क्या है मांग
    -मामला कठुआ से हटाकर चंडीगढ़ ले जाया जाए.
    -पीड़ित परिवार, वकील दीपिका राजावत और तालीब हुसैन को सादी वर्दी वाले सुरक्षाकर्मी दिए जाएं.
    -नाबालिग आरोपी जिस सुधार गृह में है, वहां सुरक्षा बढ़ाई जाए, उससे किसी को मिलने की इजाजत न दी जाए.
    -कोर्ट की निगरानी में जांच हो.
    -मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की सुनवाई पर स्थगन लगे.

  • 12:30(IST)

    चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खनविलकर और डीवाई चंद्रचूड़ की एक बेंच ने राजावत और कपूर की तरफ से पेश हुईं वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह की तरफ से बढ़ाए गए प्रतिवेदन पर विचार किया. इस प्रतिवेदन में दोनों याचिकाओं पर जरूरी आधार पर सोमवार को ही सुनवाई करने का अनुरोध किया गया था. 

    पीठ ने कहा, ‘हम पहले ही शुक्रवार को आदेश पारित कर चुके हैं.’ इस पर जयसिंह ने कहा कि पूर्व में बार असोसिएशन को नोटिस जारी किया गया था जबकि मौजूदा मामला स्थानीय वकील राजावत को मिल रही धमकियों से जुड़ा है. पीठ याचिका पर सोमवार दो बजे सुनवाई के लिए राजी हो गई. 

  • 12:15(IST)

    कठुआ मामले में पीड़ित परिवार का केस लड़ रहीं दीपिका राजावत का पक्ष सुप्रीम कोर्ट में इंदिरा जयसिंह रखेंगी. 
    चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खनविलकर और डीवाई चंद्रचूड़ की बेंच इंदिरा जयसिंह का पक्ष सुनेगी. दिल्ली की वकील अनुजा कपूर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कठुआ मामले को कहीं और ट्रांसफर करने की गुहार लगाई है.  

  • 11:55(IST)

    'लाइव लॉ' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट में पीड़िता के पिता का पक्ष वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह रखेंगी. 

  • 11:53(IST)

    2012 गैंगरेप की पीड़िता निर्भया की मां आशा देवी ने आज एएनआई से कहा, कठुआ और उन्नाव जैसी घटनाएं इसलिए हो रही हैं क्योंकि न्यायिक तंत्र ढीला है. यह अपराधियों के दिलो-दिमाग में डर नहीं बैठा पा रहा.  

  • 11:45(IST)

    कठुआ जिला और सेशन जज ने पुलिस की अपराध शाखा से आरोपियों को चार्जशीट की कॉपी उपलब्ध कराने को कहा और मामले में सुनवाई की अगली तारीख 28 अप्रैल तय की. 

  • 11:43(IST)

    कठुआ दुष्कर्म और हत्या मामले में सभी आठ आरोपियों ने खुद को निर्दोष बताया, जिला और सेशन जज से नार्को टेस्ट कराने की मांग की.

  • 11:43(IST)

    कठुआ बलात्कार और हत्या के मामले में गिरफ्तार नाबालिग ने न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने जमानत की अर्जी दी जिस पर आज सुनवाई होगी.

  • 11:41(IST)

    दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल 13 अप्रैल से राजघाट पर अनशन पर हैं. उनकी मांग है कि बलात्कारियों के लिए फांसी की सजा का कानून बने. 

  • 11:25(IST)

    कठुआ मामले में अब तक क्या हुआ
    सुप्रीम कोर्ट कठुआ मामले में दो याचिकाओं पर सोमवार दोपहर दो बजे सुनवाई करेगा. इनमें से एक याचिका कठुआ बलात्कार पीड़िता के परिवार की वकील ने दायर की है. 

    पीड़ित परिवार की अगुवाई कर रहीं वकील दीपिका सिंह राजावत ने कहा कि मामले की सुनवाई कठुआ की अदालत में होने पर उनकी जान को खतरा है. 

    दिल्ली के वकील की ओर से दायर दूसरी याचिका में मामले की सीबीआई जांच और मामले को जम्मू से दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की गई है. 

  • 11:22(IST)

    कठुआ मामले में मंदिर के पुजारी और आरोपी सांजी राम की बेटी ने अपने पिता पर लगे सभी आरोपों को नकार दिया और सीबीआई जांच की मांग उठाई.

  • 11:20(IST)

    आरोपियों के वकील अंकुर शर्मा ने कहा, कोर्ट ने सभी आरोपियों को आरोप पत्र की कॉपी देने का निर्देश दिया है. हमलोग नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं. सुनवाई की अगली तारीख 28 अप्रैल है.

  • 11:17(IST)

    इस मामले की अगली सुनवाई 28 अप्रैल को तय की गई है. सोमवार को पुलिस ने सभी आरोपियों को कठुआ न्यायिक मजिस्ट्रेट के कोर्ट में पेश किया. 

  • 11:15(IST)

    कठुआ जिला कोर्ट के बाहर एक आरोपी ने कहा, नार्को टेस्ट होने के बाद सबकुछ साफ-साफ पता चल जाएगा.

  • 11:06(IST)

    कठुआ केस की पीड़िता के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर सुरक्षा की मांग की है. साथ ही केस को जम्मू कश्मीर से बाहर ले जाने की गुहार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में 2 बजे सुनवाई करेगा.

LIVE कठुआ रेप मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा पीड़िता के परिवार और वकील को सुरक्षा दे राज्य सरकार

कठुआ बलात्कार-हत्या मामले में आठ आरोपियों के खिलाफ सुनवाई सोमवार से शुरू होगी. आरोपियों पर आरोप है कि उन्होंने आठ साल की लड़की को जनवरी में एक हफ्ते तक कठुआ के मंदिर में बंधक बनाकर रखा. लड़की को ड्रग्स देकर उसके साथ बार-बार बलात्कार किया गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई थी. आरोपियों में एक नाबालिग भी शामिल है जिसके खिलाफ एक अलग आरोपपत्र दायर किया गया है.

अधिकारियों ने कहा कि कठुआ के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कानून के मुताबिक एक आरोपपत्र को सुनवाई के लिए सेशन कोर्ट के पास भेजेंगे जिसमें सात लोग नामजद हैं. हालांकि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नाबालिग के खिलाफ सुनवाई करेंगे क्योंकि किशोर कानून के तहत यह स्पेशल कोर्ट है. जम्मू कश्मीर सरकार ने इस संवेदनशील मामले में सुनवाई के लिए दो विशेष लोक अभियोजकों को चुना है और दोनों ही सिख हैं. इसे इस मामले में हिंदू मुस्लिम ध्रुवीकरण को देखते हुए ‘तटस्थता’ तय करने का प्रयास माना जा रहा है.

सुप्रीम कोर्ट ने 13 अप्रैल को जम्मू बार एसोसिएशन और कठुआ बार एसोसिएशन को आड़े हाथ लिया था. इसके बाद अब सुनवाई सही ढंग से चलने की उम्मीद है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में कुछ वकीलों के हंगामा खड़ा करने पर कड़ा ऐतराज जताया था. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने जम्मू हाई कोर्ट बार एसोसिएशन की भी आलोचना की थी जिसने प्रस्ताव पारित कर अदालती कार्यवाही में शामिल नहीं होने को कहा था. दाखिल चार्जशीट के मुताबिक,बकरवाल समुदाय की लड़की का अपहरण, बलात्कार और हत्या एक सुनियोजित साजिश थी ताकि इस अल्पसंख्यक घुमंतू समुदाय को इलाके से हटाया जा सके. इसमें कठुआ के एक छोटे गांव के एक मंदिर के पुजारी को अपराध का सूत्रधार बताया गया है.

सांजी राम ने विशेष पुलिस अधिकारी दीपक खजूरिया और सुरेंद्र वर्मा, मित्र प्रवेश कुमार उर्फ मन्नु, राम के भतीजे एक नाबालिग और उसके बेटे विशाल उर्फ ‘शम्मा’ के साथ मिलकर इस अपराध को अंजाम दिया. आरोपपत्र में जांच अधिकारी हेड कांस्टेबल तिलक राज और एसआई आनंद दत्ता को भी नामजद किया गया है जिन्होंने राम से चार लाख रुपए कथित रूप से लेकर अहम सबूत नष्ट किए. आठों आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं. अपराध शाखा जम्मू बार एसोसिएशन और कठुआ बार एसोसिएशन को सुप्रीम कोर्ट के सामने 19 अप्रैल को पेश होने के लिए जारी नोटिस सौंपेंगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi