S M L

कश्मीरी पंडितों ने अपने लिए अलग क्षेत्र की मांग की

प्रवासी कश्मीरी पंडितों के संगठन पनुन कश्मीर ने विवादास्पद अनुच्छेद 370 को समाप्त करने की मांग की है

Updated On: Aug 27, 2017 10:47 PM IST

Bhasha

0
कश्मीरी पंडितों ने अपने लिए अलग क्षेत्र की मांग की

प्रवासी कश्मीरी पंडितों के संगठन पनुन कश्मीर ने विवादास्पद अनुच्छेद 370 को समाप्त करने की मांग की है जो जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देता है. साथ ही संगठन ने राज्य के अंदर समुदाय के लिए अलग क्षेत्र की भी मांग की है.

संगठन के यहां राष्ट्रीय वार्षिक सम्मेलन में कई प्रस्ताव पारित किए गए जिनमें अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के अलावा राज्य में राजनीतिक पुनर्गठन करने और कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए झेलम के उत्तर और पूर्व में केंद्र शासित क्षेत्र का गठन करने की मांग की गई है.

एक बयान जारी कर बताया गया कि अलग क्षेत्र के लिए संघर्ष जारी रखने का संकल्प लेते हुए प्रतिनिधिमंडल ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव स्वीकार किया जिसमें संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने की मांग की गई.

अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को खत्म करने की मांग

बयान में कहा गया है, ‘संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को खत्म करने के लिए सभी प्रयास का समर्थन करने का संकल्प जताया गया. पनुन कश्मीर को लगता है कि जब तक अनुच्छेद 370 को समाप्त नहीं किया जाता है तब तक भारत के विभाजन का आंदोलन जीवंत बना रहेगा.’

बीजेपी के पूर्व नेता हरि ओम ने अनुच्छेद 35 ए को ‘भेदभावपूर्ण और असंवैधानिक’ करार दिया और सरकार तथा लोगों को रोहिंग्या और बांग्लादेशी मुसलमानों को जम्मू क्षेत्र में बसाने को लेकर सचेत किया.

उन्होंने कहा, ‘जम्मू में जनांकिकीय बदलाव को किसी भी कीमत पर रोकने की जरूरत है क्योंकि जम्मू राज्य में देश की रीढ़ है.’ पनुन कश्मीर के समन्वयक अग्निशेखर ने समुदाय के युवकों से अपील की कि ‘संघर्ष के नेक उपायों’ पर काम करते रहें और दुनिया को ‘जेहाद’ के खिलाफ जागरूक करें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi