S M L

कासगंज में हालात नियंत्रण में, किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं: UP DGP

कासंगज हिंसा के लिए पुलिस ने अब तक 9 आरोपियों समेत 49 लोगों को गिरफ्तार किया है

FP Staff Updated On: Jan 28, 2018 03:10 PM IST

0
कासगंज में हालात नियंत्रण में, किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं: UP DGP

उत्तर प्रदेश के कासगंज शहर में आज तीसरे दिन भी हिंसा भड़क उठी है. शहर में कर्फ्यू के बावजूद उपद्रवियों ने रविवार सुबह को दो अलग-अलग घटनाओं में 3 दुकानों, 2 निजी बसों और 1 कार में आग लगा दी.

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन एक बाइक जुलूस पर पथराव के बाद कासगंज में दो समुदायों के बीच हिंसा भड़क उठी थी. जिसमें चंदन नाम के एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी.

नदराई और चुंगी में दो अलग-अलग घटनाओं में 3 गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया. अलीगढ़ डिविजन के कमिश्नर एसी शर्मा ने कहा, हम पूरे इलाके में पेट्रोलिंग कर रहे हैं. कोई घटना न हो इसकी पूरी कोशिश की जा रही है. ये घटनाएं शहर के बाहरी इलाके में हुई हैं, इसलिए ज्यादा जानकारी अभी नहीं मिल पाई हैं.

हालात नियंत्रण में

इस बीच रविवार को राज्य के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, कासगंज में हालात अब नियंत्रण में हैं. पिछले कुछ घंटों में किसी घटना की सूचना नहीं है. पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है. कानून-व्यवस्था को बनाए रखना ही प्राथमिकता है.

इस मामले पर आईजी संजीव कुमार ने कहा 'हालात काबू में हैं. आरोपियों की पहचान हो गई है, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा, एक स्थानीय नागरिक के पास से कंट्री मेड बम और पिस्तौल बरामद कर ली गई है.'

इस मामले पर आईजी संजीव कुमार ने कहा 'हालात काबू में हैं. आरोपियों की पहचान हो गई है, जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा, एक स्थानीय नागरिक के पास से कंट्री मेड बम और पिस्तौल बरामद कर ली गई है.' हिंसा के कारण हुए नुकसानों के बारे में अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि तीन दुकानों में तोड़फोड़ की गई. शटर के नीचे पेट्रोल डालकर आग लगा दी गई. दो निजी बसों में भी पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी गई. एक खाली पड़े मकान को भी उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया. शाम को उपद्रवियों ने एक खाली खड़ी कार को भी आग लगा दी.

कासंगज हिंसा के लिए पुलिस ने अब तक 9 आरोपियों समेत 49 लोगों को गिरफ्तार किया है.

28 जनवरी तक इंटरनेट बंद

हिंसा प्रभावित क्षेत्र में इंटरनेट सेवाएं 28 जनवरी रात 10 बजे तक के लिए बंद कर दी गई हैं. ऐसा सोशल मीडिया के जरिए फैलने वाली अफवाहों को रोकने के लिए किया गया है. शहर में शनिवार को हिंसा फैलने के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi