S M L

करोल बाग अग्निकांडः केरल से शादी में आए परिवार में शोक की लहर तो कहीं अस्पतालों में पिता को ढूंढ रहा बेटा

57 वर्षीय सोमशेखर ने बताया- गाजियाबाद में एक शादी में शामिल होने के लिए उनका परिवार केरल के एर्नाकुलम इलाके से आया था, उसने कहा- हम गाजियाबाद में एक रिश्तेदार की शादी में शामिल होने आए थे. हम आज हरिद्वार जाने की योजना बना रहे थे

Updated On: Feb 13, 2019 01:39 PM IST

FP Staff

0
करोल बाग अग्निकांडः केरल से शादी में आए परिवार में शोक की लहर तो कहीं अस्पतालों में पिता को ढूंढ रहा बेटा

मंगलवार तड़के करीब 3.30 बजे सोमशेखर और उनका परिवार हरिद्वार के लिए होटल छोड़ने की तैयारी कर रहा था. अचानक बिजली चली गई और उनके कमरे में अंधेरा हो गया. न्यूज 18 की खबर के अनुसार इससे पहले कि वह लोग समझ पाते कि क्या हुआ था, अर्पित पैलेस होटल में उनके फर्श पर घना धुआं दिखाई दिया और दुर्गंध फैलने से लोग घबरा गए. सोमशेखर के अलावा 12 और लोग इस होटल में रह रहे थे, जहां बीते मंगलवार को भीषण आग लगने से एक बच्चे सहित 17 लोगों की मौत हो गई. सोमशेखर ने बताया कि उसकी बहन जयश्री (53), मां नलिनीम्मा (84) और भाई विद्यासागर (59) की आग में मौत हो गई.

हम हरिद्वार जाने के लिए तैयार हो रहे थे तभी अचानक बिजली चली गई

57 वर्षीय सोमशेखर ने बताया- गाजियाबाद में एक शादी में शामिल होने के लिए उनका परिवार केरल के एर्नाकुलम इलाके से आया था. उसने कहा- हम गाजियाबाद में एक रिश्तेदार की शादी में शामिल होने आए थे. हम आज हरिद्वार जाने की योजना बना रहे थे. सोमशेखर ने कहा- हम हरिद्वार जाने के लिए तैयार हो रहे थे तभी अचानक बिजली चली गई. होटल के कर्मचारी जनरेटर चालू करने लगे तभी भारी धुआं और दुर्गंध आने लगी. मेरी बहन ने पहले धुंआ देखा और हमें सूचना दी. होटल का पूरा कॉरिडोर धुएं और गंध से भरा था. उनकी मां और भाई उस समय अपनी बहन के साथ दूसरे कमरे में थे और सोमशेखर अपने कमरे की तरफ खिड़कियों को खोलने के लिए दौड़े ताकि धुआं बाहर निकल सके और निकास मार्ग खोजने में भी आसानी हो.

मैंने कॉरिडोर में आग देखी लेकिन आग बुझाने वाला यंत्र कहीं नहीं था

सोमशेखर ने बताया- कल हम वृंदावन गए थे और वहां से देर रात लौटे थे. हमारा अमृतसर जाने का भी प्लान था और 15 फरवरी को केरल लौटना था. सोमशेखर के रिश्तेदार विजयम्मा ने कहा- मैं शादी में पूरे परिवार से मिला था. मैं करीब तीन साल बाद नलिनीम्मा से मिला था. उसे यहां दिल्ली की सर्दी झेलना मुश्किल हो रहा था. मैं उसे शादी के बाद एक कमरे में ले गया. मुझे नहीं पता था कि मैं उसे आखिरी बार देख पाऊंगा. मुंबई के एक एडवरटाइजिंग प्रोफेशनल शिवानंद चंद होटल के चौथे मंजिल पर थे जब वहां आग लगी थी. उन्होंने बताया- मैं लगभग 3.30 बजे धुएं की गंध से जाग गया था. मैंने कॉरिडोर में आग की लपटें देखीं लेकिन आग बुझाने वाला यंत्र कहीं नहीं था. लोग कॉरिडोर में दौड़ रहे थे और होटल के कर्मचारी आग बुझाने की कोशिश कर रहे थे.

लाल चंद 25 वर्षों से होटल में सुपरवाइजर के तौर पर काम कर रहे थे

चंद ने कहा कि धुएं से उनका दम घुट रहा था. सांस लेने में तकलीफ होने के कारण लोग कमरों की खिड़कों के पास खड़े थे. वहीं कुछ लोगों ने खिड़की से बाहर कूदना सही समझा. वहीं हादसे में मारे गए 52 वर्षीया वकील राबिया जुसाफभाई के एक रिश्तेदार ने कहा कि मृतक महिला एक आधिकारिक काम पर उस होटल में अपने एक पुरुष सहयोगी के साथ थी. तुलसी राम ने कहा कि उनके छोटे भाई लाल चंद पिछले 25 वर्षों से होटल में एक सुपरवाइजर के तौर पर काम कर रहे थे. वह सोमवार को रात 8 बजे काम के लिए निकला था. जैसे ही उसके बेटे हिमांशु को इस घटना के बारे में पता चला, तब से वह विभिन्न अस्पतालों में लाल चंद की तलाश कर रहा है. लाल चंद के बेटे हिमांशु ठाकुर (20) ने बताया कि जब उसे घटना के बारे में पता चला तो वह अपने कॉलेज में था. उसने अपने पिता को फोन करने की कोशिश की लेकिन उनका फोन स्विच ऑफ था.

आग की चपेट में आने से एक बच्चे सहित 17 लोगों की मौत हो गई है

हिमांशु ने बताया- हम कम से कम पांच अस्पतालों में गए लेकिन फिर भी उनका कोई पता नहीं चल सका. वहीं अहमदाबाद का एक 58 वर्षीय व्यक्ति होटल के कॉरिडोर से अपने कमरे में धुआं आता देख जाग गया. दिलीप त्रिवेदी, जो एक बिजनेस मीटिंग के लिए दिल्ली आए थे, ने कहा- लगभग 4 बजे, मैंने सुना कि लोग मदद के लिए चिल्ला रहे हैं. जब मैंने दरवाजा खोला, तो मैंने कॉरि़डॉर में घना धुआं देखा और कमरे से बाहर निकलकर भाने लगा. आपको बता दें कि बीते मंगलवार ही दिल्ली के करोल बाग स्थित होटल अर्पित पैलेस में भीषण आग लग गई थी. आग की चपेट में आने से एक बच्चे सहित 17 लोगों की मौत हो गई थी जबकि तीन गंभीर रूप से झुलस गए थे. वहीं, फायरकर्मियों ने करीब 35 लोगों को बाहर सुरक्षित निकाल लिया था. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है और मरने वाले लोगों के परिवार को 5 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi