S M L

पूरे देश में बैन हो पद्मावती, वर्ना हॉल में आग लगा देंगे: करणी सेना

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने कहा कि सेंसर बोर्ड का विवादास्पद फिल्म को हरी झंडी देना ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ है

Updated On: Jan 03, 2018 01:03 PM IST

FP Staff

0
पूरे देश में बैन हो पद्मावती, वर्ना हॉल में आग लगा देंगे: करणी सेना

सेंसर बोर्ड के बॉलीबुड फिल्म ‘पद्मावती’ को कुछ बदलावों के साथ रिलीज करने की अनुमति देने से नाराज एक राजपूत संगठन ने संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की मांग की है. साथ ही इस फिल्म को दिखाने वाले सिनेमा हॉल में ‘आग लगा देने’ की भी धमकी दी है.

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना (आरआरकेएस) ने कहा कि सेंसर बोर्ड का विवादास्पद फिल्म को हरी झंडी देना ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ है. संगठन की गुजरात इकाई के अध्यक्ष राज शेखावत ने खुली धमकी देते हुए कहा कि अगर फिल्म पर पूरे देश में प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो आरआरकेएस के सदस्य कानून अपने हाथ में लेंगे.

रणवीर सिंह- दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म के रिलीज पर गुजरात और कुछ अन्य राज्यों ने पहले ही प्रतिबंध लगा रखा है.

बता दें कि 30 दिसंबर को पद्मावती फिल्म के निर्माता को सेंसर बोर्ड की तरफ से बड़ी राहत मिली थी. सीबीएफसी की जांच कमेटी ने 28 दिसंबर को पद्मावती का रिव्यू किया. जिसके बाद फिल्म को कुछ बदलाव के साथ यूए सर्टिफिकेट देने का फैसला किया और फिल्म का नाम 'पद्मावत' करने का सुझाव भी दिया. सेंसर बोर्ड का कहना था कि समाज और फिल्म निर्माता दोनों को ध्यान में रखते हुए फैसला लिया गया.

सीबीएफसी ने फिल्म को सर्टिफिकेशन देने से पहले एक एक्सपर्ट पैनल को फिल्म दिखाई. सूत्रों के मुताबिक, एक्सपर्ट पैनल ने पद्मावती फिल्म में कई चीजों को लेकर ऐतराज जताया. इस पैनल में उदयपुर के अरविंद सिंह और जयपुर विश्वविद्यालय के डॉ.चंद्रमणि सिंह और प्रोफेसर के.के. सिंह शामिल थे.

संजय लीला भंसाली की यह विवादित फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी लेकिन देश भर के राजपूत संगठनों के भारी विरोध के बाद इसके रिलीज पर रोक लगा दी गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi