S M L

कर्नाटक: एक हफ्ते तक पत्नी के शव के पास बैठा रहा पैरालाइज्ड पति, भूख से तोड़ा दम

गिरिजा का भाई जब उससे मिलने पहुंचा तो वहां का नजारा देख उसके होश उड़ गए. इसके बाद पुलिस की मदद से दरवाजा तोड़ कर दोनों को बाहर निकाला गया

FP Staff Updated On: Jul 17, 2018 11:28 AM IST

0
कर्नाटक: एक हफ्ते तक पत्नी के शव के पास बैठा रहा पैरालाइज्ड पति, भूख से तोड़ा दम

कर्नाटक के करवाड़ से एक रोंगटे खड़े कर देने वाला मामला सामने आया है. 55 साल की एक महिला की कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई. महिला के शव के पास उसका पैरालाइज्ड पति पूरे एक हफ्ते तक बैठा रहा और आखिरकार लाचार पति ने भी दम तोड़ दिया.

10 दिन बाद जाकर महिला की मौत की जानकारी उसके भाई को लगी और रिश्तेदारों ने मृतक महिला के बीमार और कमजोर पति को अस्पताल में भर्ती करवाया लेकिन डॉक्टर उसे भी नहीं बचा पाए. जानकारी के मुताबिक पति की मौत एक हफ्ते तक भूखे रहने और कमजोर होने की वजह से हुई है.

दरअसल 10 दिन पहले गिरिजा नाम की इस महिला की कार्डियक अरेस्ट के चलते मौत हो गई थी. पति पैरलाइज्ड था, इसलिए किसी से मदद भी नहीं मांग सका और एक हफ्ते तक पत्नी के शव के पास ही बैठा रहा. इस दौरान उसे काफी कमजोरी आ गई और सोमवार को उसकी भी मौत हो गई.

गिरिजा का भाई जब उससे मिलने पहुंचा तो वहां का नजारा देख उसके होश उड़ गए. इसके बाद पुलिस की मदद से दरवाजा तोड़ कर दोनों को बाहर निकाला गया. भाई ने बताया कि जब गिरिजा और आनंद को बाहर निकाला गया तो आनंद की सांसे चल रही थी. हमने जल्द ही उसे अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी भी मौत हो गई.

पति-पत्नी करवाड़ा की केएचबी कॉलोनी में रहते थे. उनकी कोई संतान नहीं थी. गिरिजा पड़ोसियों के घर में काम करके अपना और अपने पति का गुजारा चलाती थी. बताया जा रहा है कि हादसे के हफ्ते बाद तक जब गिरिजा का उसके भाई के पास कोई फोन नहीं आया तो उसे थोड़ा शक हुआ. वो गिरिजा के घर जा पहुंचा. घर अंदर से बंद था. काफी मशक्कत करने के बाद पुलिस की मदद से दरवाजा तोड़कर वो घर में घुसा और दोनो को बाहर निकाला.

पुलिस ने मामले में गिरिजा की अप्राकृतिक मौत के चलते केस दर्ज कर लिया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi