Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

बेटे की चाहत में हुईं 8 बेटियां, 82 साल की उम्र में नौंवी संतान बेटा

शरण बसावेश्वर संस्थान के पीठाधिपति शरणबसप्पा को 82 साल की उम्र में बेटा पैदा हुआ

Arun Tiwari Arun Tiwari Updated On: Nov 02, 2017 03:57 PM IST

0
बेटे की चाहत में हुईं 8 बेटियां, 82 साल की उम्र में नौंवी संतान बेटा

बेटे की चाहत हमारे समाज को किस तरह से जकड़े हए है, इसका ताजा उदाहरण कर्नाटक के कलबुर्गी शहर में आया है. टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक खबर के मुताबिक शरण बसाश्वेश्वर संस्थान के पीठाधिपति शरणबसप्पा को 82 साल की उम्र में बेटा पैदा हुआ है. ये उनकी नौंवी संतान है. इससे पहले उन्हें दो बीवियों से आठ बेटियां हैं. पीठाधिपति को इतनी उम्र में संतान प्राप्ति की चर्चा शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है.

बसाश्वेश्वर संस्थान बड़ा धार्मिक केंद्र है इस वजह से मठ में बच्चे को देखने के लिए बहुत से लोगों में उत्सुकता है. बच्चे को देखने के लिए बहुत से लोग मठ पहुंचे भी लेकिन मठ के लोगों द्वारा उन्हें वापस लौटा दिया गया. पीठाधिपति के भतीजे लिंगाराजप्पा अप्पा ने बेटा पैदा होने की पुष्टि की है.

मठ के भीतर रहने वाले एक व्यक्ति ने बताया पीठाधिपति लंबे समय से एक बेटा पैदा होने की प्रतीक्षा कर रहे थे. उनकी इच्छा थी कि उनके बाद मठ का उत्तराधिकारी बेटा बने. मठ की कीमत तकरीबन सौ करोड़ रुपए है.

मठ का प्रभाव हैदराबाद-कर्नाटक और उसके आस-पास के राज्यों में है. कई राज्यों में लाखों की संख्या में इसके श्रद्धालु फैले हुए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi