S M L

आलोक वर्मा को पद से हटाए जाने पर बोले सिब्बल- तोता पिंजड़े से उड़ जाता तो सारे राज खोल देता

सिब्बल ने कहा, आलोक वर्मा को हटाया गया. समिति ने सुनिश्चित किया कि पिजड़े में बंद तोता उड़ न सके क्योंकि इसका डर था कि कहीं ये तोता सत्ता के गलियारे के राज नहीं खोल दे

Updated On: Jan 11, 2019 02:11 PM IST

Bhasha

0
आलोक वर्मा को पद से हटाए जाने पर बोले सिब्बल- तोता पिंजड़े से उड़ जाता तो सारे राज खोल देता

आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक पद से हटाए जाने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि ‘पिजड़े में बंद तोते को उड़ने नहीं दिया गया क्योंकि वह सत्ता के गलियारे के सारे राज खोल देता.’

सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, ‘आलोक वर्मा को हटाया गया. समिति ने सुनिश्चित किया कि पिजड़े में बंद तोता उड़ न सके क्योंकि इसका डर था कि कहीं ये तोता सत्ता के गलियारे के राज नहीं खोल दे.’ उन्होंने तंज कसते हुए कहा, ‘पिजड़े में बंद तोता अभी बंद ही रहेगा.’

यह भी पढ़ें- क्या इस तरीके से आलोक वर्मा को बचा सकते थे मल्लिकार्जुन खड़गे?

गौरतलब है कि कुछ साल पहले सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को ‘पिजड़े में बंद तोता’ कहा था. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट द्वारा बहाल किए जाने के मात्र दो दिन बाद आलोक वर्मा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली एक उच्चाधिकार प्राप्त चयन समिति ने गुरुवार को एक मैराथन बैठक के बाद एक अभूतपूर्व कदम के तहत भ्रष्टाचार और कर्तव्य निर्वहन में लापरवाही के आरोपों में सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया.

सीबीआई के 55 वर्षों के इतिहास में इस तरह की कार्रवाई का सामना करने वाले जांच एजेंसी के वह पहले प्रमुख हैं.1979 बैच के आईपीएस अधिकारी वर्मा बुधवार को ड्यूटी पर लौटे थे.

इससे एक दिन पहले ही उच्चतम न्यायालय ने कुछ शर्तो के साथ उनकी वापसी का मार्ग प्रशस्त किया था और सीबीआई प्रमुख का चयन करने वाली तीन सदस्यीय समिति से एक सप्ताह में उनके पद पर बने रहने के बारे में फैसला करने के लिए कहा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi