S M L

कानपुर रेल हादसे के मास्टरमाइंड को भारत लाने की कवायद तेज

भारतीय जांच एजेंसियों ने पकड़े गए शमशुल होदा को भारत लाने के लिए नेपाल में डेरा डाल रखा है

Updated On: Feb 07, 2017 06:32 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
कानपुर रेल हादसे के मास्टरमाइंड को भारत लाने की कवायद तेज
Loading...

कानपुर समेत कई दूसरे रेल हादसों के मास्टरमाइंड शमशुल होदा ने कानून के शिकंजे में आने के बाद अपना गुनाह कबूल कर लिया है. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट शमशुल को दुबई से गिरफ्तार कर नेपाल लाया गया है. भारतीय जांच एजेंसियां शमशुल को जल्द ही भारत लाने वाली हैं.

काठमांडू पुलिस के डीआईजी पशुपति उपाध्याय के अनुसार होदा को इंटरपोल की मदद से नेपाल लाया गया है. होदा कानपुर रेल हादसे में वांटेड है. नेपाल पुलिस बारा जिले में हुए डबल मर्डर केस में भी होदा से पूछताछ कर उसे अदालत में पेश करने वाली है.

कानपुर रेल हादसे के बाद बिहार में नेपाल-मोतिहारी सीमा पर से कुछ लोगों की गिरफ्तारी हुई थी. मोतिहारी में गिरफ्तार हुए लोगों से पूछताछ के बाद शमशुल होदा का नाम सामने आया था.

गिरफ्तारी के बाद खुलासा हुआ कि कानपुर में जो रेल एक्सिडेंट हुआ था, वो कोई मैक्निकल चूक या मानवीय भूल की वजह से नहीं बल्कि एक आतंकी वारदात था.

Kanpur Rail Accident 1

कानपुर के पुखराना में आधी रात के बाद इदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी  (फोटो: रॉयटर्स)

रेल हादसों का नेपाल कनेक्शन

17 जनवरी 2017 को बिहार पुलिस ने दावा किया था कि 20 नवंबर को कानपुर में जो रेल हादसा आईएसआई के साजिश का नतीजा है. मोतिहारी के उस समय के एसपी जितेंद्र राणा ने बताया था कि गिरफ्तार तीनों शख्स ने खुलासा किया है कि होदा से उसे फंडिंग मिली है.

खुलासे से हरकत में आई बिहार पुलिस ने नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) से संपर्क किया. एनआईए की टीम ने मोतिहारी पहुंच कर तीनों से पूछताछ की थी. पूछताछ में गिरफ्तार लोगों ने कबूल किया कि कानपुर रेल हादसा समेत कई और रेल दुर्घनाओं को अंजाम देने के लिए साजिश रची गई थी.

रेल हादसों का नेपाल कनेक्शन की जांच के लिए भारतीय जांच एजेंसियां (रॉ, आईबी और एनआईए की टीम ) पिछले कई दिनों से नेपाल में डेरा डाले हुए हैं.

शमशुल होदा एक नेपाली नागरिक है. नेपाल और दुबई के बीच में प्रत्यार्पन समझौता है, इसलिए भारतीय जांच अधिकारियों ने नेपाल की जांच एजेंसी से लगातार संपर्क बनाए रखा. भारतीय जांच एजेंसी के तरफ से कई इनपुट मुहैया कराए गए. जिसके आधार पर नेपाल की जांच एजेंसी की एक टीम पिछले सप्ताह दुबई पहुंची थी.

नेपाली नागरिक साजिश में शामिल

पिछले साल 20 नवंबर को इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. कानपुर के पास हुए भयंकर रेल हादसे में 150 मुसाफिरों की मौत हो गई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

Kanpur Rail Accident injured

कानपुर ट्रेन दुर्घटना में 150 मुसाफिरों की मौत हो गई थी (फोटो: रॉयटर्स)

बिहार पुलिस द्वारा तीन लोगों की गिरफ्तारी के बाद पता चला था कि तीन और लोग भी इस साजिश में शामिल थे. तीनों ही नेपाली नागरिक हैं.

भारतीय जांच एजेंसी के निशानदेही पर नेपाल में भी तीन लोगों की गिरफ्तारी हई. गिरफ्तारी के बाद शमशुल होदा के बारे में पता चला था. गिरोह का सरगना शमशुल होदा बृजकिशोर गिरी, शंभू गिरी और मुजाहिर अंसारी के जरिए नेटवर्क चलाता था.

जांच में पता चला था कि बिहार से गिरफ्तार उमाशंकर पटेल, मुकेश यादव और मोतीलाल पासवान को नेपाली नागरिक बृज किशोर ने तीन लाख रुपए दिए थे. ये पैसे इंदौर-पटना एक्सप्रेस और सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस को दुर्घटनाग्रस्त करने के लिए दिए गए थे.

साजिश की बातचीत रिकार्ड

नेपाल पुलिस को बृज किशोर गिरी के पास से एक ऑडियो क्लिप मिला था. इस ऑडियो क्लिप में कानपुर रेल हादसे की साजिश की बातचीत रिकॉर्ड है.

नेपाल पुलिस ने भारतीय जांच एजेंसी एनआईए को यह ऑडियो क्लिप सौंपे थे. जिसके बाद एनआईने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की थी.

बिहार पुलिस ने आईएसआई के भारतीय रेल की पटरियों को नुकसान पहुंचा कर देश भर में ट्रेन हादसों को अंजाम देने की साजिश का खुलासा किया था.

गृह मंत्रालय के एक अफसर के अनुसार पकड़े गए अपराधियों द्वारा बिहार पुलिस की दी गई जानकारी और एनआईए को मिली सूचना में कोई फर्क नहीं मिला है. कुछ तकनीकी सबूत भी हमारी जांच एजेंसी के पास हैं, जिससे पता चलता है कि नेपाली नागरिक बृजकिशोर गिरी, शमशुल होदा और कराची में आईएसआई का एजेंट शफी शेख़ के बीच बातचीत हुई थी.

भारत लाने की कोशिशें तेज

एनआईए के सूत्र कहते हैं कि शमशुल को भारत लाया जा रहा है. इसके लिए जरूरी कार्रवाई को पूरा किया जा रहा है. नेपाल की अदालत में पेश करने के बाद नेपाल शमशुल होदा को भारतीय जांच एजेंसी के हवाले कर देगी.

आईएसआई एजेंट शमशुल होदा से एनआईए हाल के कई रेल हादसों के बारे में पूछताछ करेगी. शमसूल होदा को नेपाल के बारा जिले के कलैया ले जाया गया है.

होदा के भारत में हुए दूसरे रेलवे एक्सीडेंट में शामिल होने के आरोपों की भी जांच की जा रही है. जिसमें आंध्र प्रदेश के कुनेरु का रेल हादसा और बिहार के घोड़ासहन में रेलवे पटरी पर आईईडी बरामद होने की घटना शामिल है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi