S M L

Exclusive: मोजो बिस्त्रो से फैली आग तबाही बनकर 1Above तक पहुंची, दोनों रेस्त्रां चला रहे थे अवैध हुक्का बार

फ़र्स्टपोस्ट से बातचीत के दौरान अजॉय मेहता ने कहा कि दमकल विभाग से जो मुझे रिपोर्ट मिली है, उसमें तीन खास बातें हैं

Sanjay Sawant Updated On: Jan 06, 2018 05:11 PM IST

0
Exclusive: मोजो बिस्त्रो से फैली आग तबाही बनकर 1Above तक पहुंची, दोनों रेस्त्रां चला रहे थे अवैध हुक्का बार

नए साल से दो दिन पहले मुंबई के कमला मिल्स कम्पाउंड में लगी भीषण आग में 14 लोगों की मौत हुई. मुंबई फायर ब्रिगेड द्वारा की गई शुरुआती जांच में कहा गया कि 29 दिसंबर को आग मोजो बिस्त्रो रेस्तरां के हुक्के से फैलनी शुरू हुई और बाद में इसकी लपटें बढ़ते-बढ़ते क्लब 1Above तक जा पहुंची.

मुंबई फायर बिग्रेड की जांच रिपोर्ट में कहा गया कि गार्ड ने लोगों को आग से बचाने के लिए उन्हें बाहर निकालने का रास्ता तो दिखाया. लेकिन वो रास्ता भी ब्लॉक हो चुका था. इसके चलते घबराए लोगों ने खुद को बचाने के लिए पास में मौजूद टायलेट में खुद को बंद कर लिया. हालांकि अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि आखिर किस रेस्तरां ने जाने का रास्ता ब्लॉक किया था.

दमकल विभाग के चार अधिकारियों ने घटना के एक हफ्ते के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंप दी. रिपोर्ट में सामने आया है कि दोनों ही रेस्तरां अवैध रूप से हुक्का बार चला रहे थे. इस रिपोर्ट में 14 चश्मदीदों की गवाही को भी शामिल किया गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, जिन लोगों ने खतरा भांप लिया था उन्होंने टायलेट में शरण नहीं ली. जबकि घबराए हुए अन्य लोगों ने खुद को टायलेट में बंद कर लिया था. जिस कारण दम घुटने से उनकी मौत हो गई. मोजो बिस्त्रो में जो लोग फंसे थे वो इसलिए भी बच पाए, क्योंकि रेस्तरां पूरी तरह से बंद नहीं था और ऊपर से खुला था. लेकिन 1Above में जो लोग मौजूद थे वो इतने खुशकिस्मत नहीं थे. क्योंकि ये रेस्तरां उस समय पूरी तरह से पैक था. वहीं रेस्तरां में तिरपाल और बैंबू ने आग में घी जैसा काम किया. इनके कारण आग और तेजी से फैलती चली गई. 15 पन्नों की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जिस समय आग तेजी से फैल रही थी, उस वक्त दमकल विभाग भी मौके पर पहुंच चुका था. रिपोर्ट बीएमसी कमिश्नर अजॉय मेहता को सौंपी गई है.

फ़र्स्टपोस्ट से बातचीत के दौरान मेहता ने कहा कि 'दमकल विभाग से जो मुझे रिपोर्ट मिली है, उसमें तीन खास बातें हैं. पहली आग कैसे लगनी शुरू हुई, दूसरी आग लगने का कारण क्या था और तीसरी आग कैसे फैली. उन्होंने कहा, आग मोजो बिस्त्रो रेस्तरां में हुक्के से लगनी शुरू हुई. इसके बाद वो अवैध तिरपाल और बैंबू के फ्रेम व अन्य ज्वलनशील पदार्थों के कारण फैलनी शुरू हुई. वहीं आग से बचकर निकल सकने वाला रास्ता बंद था, जिस कारण लोग निकल नहीं सके. मैं अपनी जांच दो हफ्तों में पूरी कर लूंगा और अंतिम रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपूंगा'.

KAMALA FIRES

इस घटना को लेकर 1Above रेस्तरां के मैनेजमेंट ने 30 दिसंबर को एक बयान जारी किया था. जिसमें उसने दावा किया था कि आग मोजो बिस्त्रो से फैलनी शुरू हुई थी. यह है 1Above रेस्तरां का बयान:

हम 1Above की तरफ से घटना के लिए खेद जताते हैं और घायलों और मृतकों के प्रति अपनी शोक संवेदना व्यक्त करते हैं, और सभी पीड़ितों को पूरी सहायता देने का आश्वासन देते हैं.

1Above सभी फायर सेफ्टी नियमों, लाइसेंस, प्रक्रियाओं और नियमों का पालन करता है- हम इस वजह से कई जानों को बचा पाए. हम इसके लिए अपने फायर सेफ्टी प्रोटोकॉल और अपने स्टॉफ को धन्यवाद देते हैं कि उनके तुरंत और सही फैसले की वजह से मुश्किल वक्त में लोगों की मदद कर पाए. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए हम हर 3 महीने पर अपनी फायर सेफ्टी की जांच करते हैं और किसी भी इमरजेंसी से निपटने के लिए ट्रेनिंग देते हैं. हमने हाल ही में इस तिमाही में भी इस तरह की प्रैक्टिस की थी. हमारे यहां आग बुझाने के लिए 10 अग्निशामक यंत्र हैं और आग से बचने के लिए परिसर में जरूरी निर्देश भी लिखे हैं, जैसा अथॉरिटी द्वारा कहा गया है. फायर सेफ्टी प्रोटोकॉल के तहत ही 1Above में एक फायर एग्जिट भी नियमों के तहत सही तरीके से बनाया गया था- जिसकी वजह से हम लोगों को जल्दी से निकालने में कामयाब भी हुए.

हम यह भी साफ-साफ बता देना चाहते हैं कि हमारे रूफटॉप पर कोई गैस सिलिंडर नहीं रखा था. हमारा गैस बैंक ग्राउंड फ्लोर पर होता है जहां जरूरत के मुताबिक ही गैस सिलिंडर रखे जाते हैं. जैसे ही आग लगने की घटना को नोटिस किया वैसे ही हमने गैस को बंद कर दिया ताकि और नुकसान को रोका जा सके.

यह भी एक तथ्य है कि जैसे हमारे स्टॉफ ने आग को बढ़ते देखा, उन्होंने लोगों को वहां से निकालना शुरू कर दिया.

हमने जैसे ही देखा कि यह हालात बेकाबू हो सकते हैं और आग चौतरफा फैल सकती है तो हमारे सभी मालिक, स्टॉफ और रेस्तरां का मैनेजमेंट भीड़ को 1Above से तुरंत खाली करवाने में जुट गए. मोजो बिस्त्रो रेस्तरां से निकलने का कोई रास्ता नहीं था, इस वजह से हमें यह लगता है कि उन्होंने अपने मेहमानों को भी 1Above के परिसर में जाने को कहा क्योंकि सिर्फ 1Above के पास ही इमरजेंसी एग्जिट थी. इस वजह से मोजो बिस्त्रो से भी लोग हमारे परिसर में घुस आए और हमने फायर ब्रिगेड  के आने पर सबकी बाहर निकलने में मदद की. हमारे सारे परिसर का पूरी तरह निरीक्षण हुआ है हमने सभी जरूरी परमिशन ले रखी है.

हमारा मैनेजमेंट सुबह तक कमला मिल्स में जुटा रहा और लोगों को उनके घर जाने, अस्पताल पहुंचाने, पानी देने जैसे जरूरी मदद पहुंचाई. हमारे ऑनर और स्टॉफ व्यक्तिगत रूप से फायर ब्रिगेड की मदद करने में लगे थे. हमने सरकारी अथॉरिटी और सभी संबंधित पक्षों की पूरी तरह से मदद करने का वादा किया और जांच प्रक्रिया में भी पूरा सहयोग करेंगे.

इस दुखद और अप्रत्याशित हादसे में जिन लोगों ने अपनों को खोया है उन परिवारों से हम पूरी संवेदनाएं रखते हैं और ईश्वर से घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना करते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi