S M L

कमला मिल्स: मोजो बिस्त्रो के मैनेजर की जुबानी, हादसे की कहानी

पब में आग लगने के बाद लोग वॉशरूम में चले गए क्योंकि रेस्टोरेंट के ऊपर प्लास्टिक का शेड जो पिघलकर गिर रहा था

FP Staff Updated On: Jan 24, 2018 10:43 AM IST

0
कमला मिल्स: मोजो बिस्त्रो के मैनेजर की जुबानी, हादसे की कहानी

पिछले साल 29 दिसंबर को हुए मुंबई के कमला मिल अग्निकांड मामले में मोजो बिस्त्रो के मैनेजर ने न्यूज़18 इंडिया से बातचीत में बताया है कि असल में उस दिन क्या हुआ था और कैसे 14 लोगों की जान चली गई. पहली बार पता चला कि इस अग्निकांड में 14 लोगों की मौत कैसे और किस वजह से हुई. इस मामले में मुंबई पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पब मालिक और कमला मिल कंपाउंड के मालिक समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है.

कमला मिल अग्निकांड के 25 दिनों के बाद मोजो पब के मैनेजर मनोज निकम ने बताया कि कैसे उस रात कुछ ही सेकेंडों में दोनों पब पूरी तरह से जलकर खाक हो गए. कैसे वन अबव पब में फंसे 14 लोगों की मौत हो गई. कैसे कुछ दिन पहले आए बीएमसी और फायर ब्रिग्रेड के अधिकारियों ने सर्वे करने के बाद भी कुछ नहीं किया.

मोजो पब के मैनेजर मनोज निकम के मुताबिक, 'उस रात हम सभी लोग वहां पर थे, अचानक आग लगनी शुरू हुई. शुरुआत में लगा कि हम लोग कंट्रोल कर लेंगे, पर कुछ ही सेकेंडों में आग पूरी तरह से फैल गई. सबसे पहले हमने अपने ग्राहकों को और अपने लोगों को बाहर निकाला, पर आग लगातार फैल रही थी, और दूसरे पब तक चली गई.'

'वन अवब में उस दिन 14 लोगों की मौत हुई. वो लोग अपने आप को बचाने के लिए वॉशरूम में चले गए थे, क्योंकि पब के ऊपर प्लास्टिक का शेड था, जो आग लगने के बाद पिघलकर लगातार गिर रहा था. इसलिए लोग वहां से बाहर नहीं आ पाए, और पिघलते प्लास्टिक से बचने के लिए वॉशरुम में छुप गए. लेकिन बाद में आग आस-पास लग गई. जिसकी वजह के वॉशरूम में काफी धुंआ हो गया. मैं भी धुंए में फंस गया था.'

मनोज निकम ने बताया कि 'समय-समय पर फायर ब्रिग्रेड और बीएमसी के लोग आते होंगे, सारे सरकारी लोग सादे कपड़े में आते थे, तो हमें पता नहीं चल पाता था. अवैध निर्माण के सवाल पर निकम ने कहा कि अवैध निर्माण था या नहीं, यह मैं नहीं बोल सकता हूं, मैं वहां सिर्फ नौकरी करता हूं, पता नहीं था कि क्या अवैध है या नहीं.'

मुंबई पुलिस ने इस मामले में कमला मिल कंपाउंड के मालिक रमेश गोवानी को भी धारा 304 के तहत गिरफ्तार किया है. रमेश गोवानी को मुंबई के भोईबाड़ा कोर्ट में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने रमेश गोवानी को 29 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. इस मामले में मुंबई पुलिस ने अब तक पब मालिक और कमला मिल कंपाउंड के मालिक समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है.

(न्यूज18 हिंदी के लिए विवेक गुप्ता की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi