S M L

कमला मिल्स हादसाः जानिए... कब क्या हुआ

मृतकों का पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. राजेश डेरे ने बताया कि पोस्टमॉर्टम में साफ हुआ है कि सभी मौतें दम घुटने की वजह से हुई हैं

Updated On: Dec 29, 2017 04:16 PM IST

FP Staff

0
कमला मिल्स हादसाः जानिए... कब क्या हुआ

मध्य मुंबई की एक इमारत में स्थित पब में जन्मदिन के उत्सव के दौरान आधी रात के बाद आग लगने की घटना में 11 महिलाओं समेत 14 लोगों की मौत हो गई है. अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने के कारण हुई.

एक अधिकारी ने बताया कि लोअर परेल इलाके में स्थित एक व्यावसायिक परिसर की तीसरी मंजिल पर एक होटल की छत पर आग लग गई. घटना में 21 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘शहर के व्यावसायिक इलाके सेनापति बापट मार्ग पर स्थित कमला मिल्स परिसर में ट्रेड हाउस बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर बने वन एबॉव पब में रात करीब साढ़े 12 बजे यह हादसा हुआ.’

उन्होंने बताया, ‘दमकल विभाग के कर्मचारियों ने होटल के अंदर फंसे कम से कम 35 घायलों को बाहर निकाला. उन्हें उपचार के लिए अस्पताल भेज दिया गया.’

दम घुटने से हुई है अधिकतर लोगों की मौत

अधिकारी के मुताबिक, ‘उपचार के दौरान 11 महिलाओं समेत 14 लोगों ने दम तोड़ दिया. अधिकतर पीड़ितों की मौत दम घुटने के कारण हुई थी.’ पुलिस ने हृतेष संघवी, जिगर संघवी और पब चलाने वाले सी ग्रेड हॉस्पिटैलिटी के अभिजीत मानका के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. इनमें दो को हिरासत में ले लिया गया है.

Photo Source: ANI

Photo Source: ANI

इस बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने आग लगने की घटना पर दुख व्यक्त किया है.

सीएम फडणवीस ने ट्वीट किया, ‘मुंबई के कमला मिल्स में आग लगने की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे सुनकर व्यथित हूं. बृहन्मुंबई महानगरपालिका आयुक्त (अजय मेहता) को दोषी अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

पोस्टमार्टम करनेवाले डॉक्टर ने कहा दम घुटने से हुई मौत

मरनेवालों में जीत (49 साल), प्रीती (36 साल), तेजल, प्रमिला, विश्वा (23 साल), वीणा (28 साल), कविता (36), पारोली (30), धैर्य (26 साल) मनीषा (30 साल), यश (27), तीन अन्य के नाम का पता अभी नहीं चल पाया है.

ये भी पढ़ेंः सुरक्षा व्यवस्था में अनदेखी के चलते गईं 14 जानें

मृतकों का पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. राजेश डेरे ने बताया कि पोस्टमॉर्टम में साफ हुआ है कि सभी मौतें दम घुटने की वजह से हुई हैं. पुलिस ने इस मामले में गैर-इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है.

बिना लाइसेंस का चल रहा था रेस्टोरेंट

बताया जा रहा है कि जिस रेस्टोरेंट में आग सबसे पहले लगी, वो बगैर लाइसेंस के चल रहा था. रेस्टोरेंट मालिक पर गैर इरादतन हत्या के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इस पूरे मामले से म्युजिक कंपोजर शंकर महादेवन के बेटे सिद्धार्थ महादेवन का नाम भी सामने आया है. मिड डे की रिपोर्ट के मुताबिक, बिल्डिंग में स्थित मोजो बिस्त्रो रेस्तरां के मालिक हैं सिद्धार्थ महादेवन. और बीएमसी के सूत्रों के मुताबिक, इस रेस्तरां के अपर सेक्शन में 25 गैस सिलिंडर रखी हुई थीं.

संसद में उठा मुद्दा, सांसदों ने की न्यायिक जांच की मांग

इधस संसद में चल रहे शीतकालीन सत्र के दौरान भी इस हादसे की चर्चा हुई. बीजेपी सांसद किरीट सोमैया ने कहा कि इस घटना के लिए जिम्मेदार बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के भ्रष्ट अधिकारियों और परिसर के मालिक के खिलाफ कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि परिसर में अवैध निर्माण हुआ था जो हादसे की वजह बना.

jaya bachchan

वहीं शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने घटना की न्यायिक जांच कराने की मांग की. उन्होंने कहा कि ये बड़े लोगों का होटल हैं इसलिए इसकी न्यायिक जांच कराई जाए. उन्होंने दावा किया कि ये किसी आयुक्त (कमिश्नर) के बेटे का है.

सांसद जया बच्चन ने कहा कि मैं कमला मिल्स गई हूं. ये एक भूल-भुलैय्या जैसा है, यहां सकरी गलियां हैं. ये साफ है कि यहां लापरवाही बरती गई है.

मुंबई के मेयर विश्वनाथ महादेश्वर ने कहा है कि मैं मुंबई में हर वक्त कहां क्या चल रहा है, इस पर नजर नहीं रख सकता. जबतक भ्रष्टाचार का कोई सबूत नहीं मिल जाता, तब तक किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi