S M L

कैलाश सत्यार्थी का खोया नोबल प्राइज सर्टिफिकेट जंगल में मिला

सत्यार्थी का सर्टिफिकेट उनके घर से लगभग 1 महीने पहले चोरी हुआ था

Updated On: Mar 12, 2017 12:56 PM IST

Bhasha

0
कैलाश सत्यार्थी का खोया नोबल प्राइज सर्टिफिकेट जंगल में मिला

बाल अधिकार कार्यकर्त्ता कैलाश सत्यार्थी का खोया हुआ नोबेल सर्टिफिकेट दिल्ली पुलिस ने ढूंढ लिया है. उनका सर्टिफिकेट उनके साउथ दिल्ली के घर से लगभग 1 महीने पहले चोरी हुआ था. अब संगम विहार के जंगल में मिला है.

सत्यार्थी ने दिल्ली पुलिस को धन्यवाद देते हुए कहा, 'मैं नोबेल की कॉपी और ऑरिजनल सर्टिफिकेट ढूंढने के लिए दिल्ली पुलिस की गई कोशिश लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं.'

उन्होंने कहा, ‘मैं एक पुलिसकर्मी का बेटा हूं. मैंने देश के प्रति उनकी प्रतिबद्धता एवं जिम्मेदारी को हमेशा समझा है.’

सत्यार्थी को साल 2014 में पाकिस्तान की बाल अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई के साथ नोबेल पुरस्कार संयुक्त रूप से दिया गया था.

सत्यार्थी  के साउथ दिल्ली के कालका जी के घर से नोबेल की कॉपी, सर्टिफिकेट और कई कीमती सामान की चोरी के लिए  में 12 फरवरी को तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

उनके घर में 6 या 7 फरवरी की रात में चोरी हुई थी. चोरी के बाद बाकी सामान मिल गया था लेकिन उनका सर्टिफिकेट नहीं मिला था.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसे संगम विहार इलाके के पीछे के जंगल से कल बरामद कर लिया गया.

उन्होंने बताया कि सर्टिफिकेट ढूंढने का काम दो दिन तक चला. इस तलाश में पुलिस बल और डॉग स्क्वॉयड लगे हुए थे.

अधिकारी ने बताया कि सर्टिफिकेट पुरानी हालत में ही बरामद हुआ है. आरोपी ने इसे कागज का टुकड़ा समझकर जंगल में फेंक दिया था. सर्टिफिकेट के साथ कई अन्य चीजें मिली हैं.

उन्होंने साल 2015 के जनवरी महीने में अपना नोबेल पदक राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सौंप दिया था. वास्तविक मेडल फिलहाल राष्ट्रपति भवन के संग्रहालय में रखा हुआ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi